एनआइए ने तमिलनाडु के जिहादी गैंग शहादत हमारा लक्ष्य से जुड़े 10 आतंकवादियों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया है।

0
1

एनआइए ने तमिलनाडु के जिहादी गैंग ‘शहादत हमारा लक्ष्य’ से जुड़े 10 आतंकवादियों के खिलाफ
आरोपपत्र दायर किया है। एनआइए ने इस मामले में कहा कि केस की जांच करने के बाद ये बात स्थापित
हो गई है कि आरोपी आतंकवादी हिंसक जिहादी विचारधारा से ग्रसित कट्टरपंथी है। मुख्य आरोपी शेख
दाऊद और Md रिफास ने अवैध हथियारों की खरीद कर आतंकी वारदातों को अंजाम देने का प्रयास
किया था।

एनआइए ने तमिलनाडु के एक ‘जिहादी’ गैंग ‘शहादत हमारा मिशन है’ के एक सदस्य को गिरफ्तार किया
था। उस पर दक्षिणी राज्यों को जिहाद की हिंसा में झोंककर शरिया को स्थापित करने की साजिश रचने का
आरोप लगाया गया था।एनआइए ने ‘शहादत हमारा मिशन है’ आतंकी संगठन के सदस्यों के पास से तलवार
जैसे घातक हथियारों के अलावा पैम्फलेट आदि जब्त किए गए। जनवरी 2019 में एनआइए के दोबारा केस
दर्ज करने के बाद अन्य आरोपितों शेख दाऊद, अहमद इम्तियाश, हमीद असफर, लियाकत अली, सजीथ
अहमद और रिजवान मुहम्मद को भी गिरफ्तार किया गया।

एनआइए द्वारा मई 2019 में आरोपितों के क्षेत्र में जांच के दौरान राशिद की पहचान गिरोह के सदस्य के
रूप में की गई। डिजिटल उपकरणों, उनके ई-मेल और सोशल मीडिया खातों से पता चला कि रशीद सहित
प्रतिवादी ने ‘जिहाद’ करने के मकसद से दाऊद और रिफास के नेतृत्व में कई बार बातचीत की थी।
तमिलनाडु में इस्लामी शासन स्थापित करने की साजिश थी।