ओवर में 30 रन पड़े तो फोन पर रो पड़े थे इशांत शर्मा..

0
2
ओवर में 30 रन पड़े तो फोन पर रो पड़े थे इशांत शर्मा

25 मई 2007 को ढाका में बांग्लादेश के खिलाफ पहला टेस्ट खेलने वाले इशांत शर्मा 13 साल लंबे करियर के बाद 100वां टेस्ट खेलने जा रहे हैं। दिल्ली के रहने वाले इशांत ने नौ दिसंबर 2016 को बास्केटबॉल खिलाड़ी प्रतिमा सिंह से शादी की। इसे संयोग ही कहेंगे पिछले तीन-चार साल में इशांत का प्रदर्शन बहुत शानदार रहा है

और दिग्गज कहते हैं कि यह एक गेंदबाज के तौर पर यह उनका सर्वोच्च समय है।

पति का 100वां टेस्ट देखने यहां पहुंचीं प्रतिमा से जब पूछा गया कि क्या आपकी वजह से ऐसा हुआ है
तो उन्होंने हंसते हुए कहा कि लेडी लक नहीं, हार्ड वर्क (कठिन परिश्रम) के कारण वह यहां तक पहुंचे हैं।
हर चीज का क्रेडिट लड़कियों को नहीं मिलना चाहिए।

भारतीय बास्केटबॉल टीम की पूर्व सदस्य प्रतिमा ने कहा कि इशांत की जिंदगी में जो कठिन परिश्रम,
निरंतरता और अनुशासन है, उसकी वजह से ही वह यहां तक पहुंचे हैं। मुझे क्रिकेट के बारे में उतना नहीं पता,

लेकिन सब कहते हैं कि एक तेज गेंदबाज के तौर पर 100 टेस्ट खेलना बहुत कठिन काम है।
अगर आप अनुशासन में नहीं रहेंगे तो शरीर जवाब दे जाएगा। मैं उन्हें 2011 से जानती हूं।
मैंने 10 सालों में कभी भी नहीं देखा कि उन्होंने थकावट,

यात्रा, व्यक्तिगत कारण या प्रोफेशनल कारण या किसी और वजह से ट्रेनिंग छोड़ी हो। एक खिलाड़ी के तौर पर मुझे भी पता है कि ट्रेनिंग कितनी महत्वपूर्ण है। मैं भी इसी तरह की खिलाड़ी थी, लेकिन 10 साल में क्रिकेट खेलते रहना और कभी ट्रेनिंग मिस नहीं करना एक रिकॉर्ड है। इस दौरान जिंदगी में बहुत उतार-चढ़ाव आए।
कभी आप जो सोचते हो वह नहीं होता है, वह कितना भी निराश हों नाराज हों, लेकिन ट्रेनिंग नहीं छोड़ते हैं।

प्रतिमा ने बताया कि इशांत की खुशी में शामिल होने के लिए 15-16 लोग यहां आ रहे हैं।

इशांत के मम्मी-पापा के अलावा प्रतिमा की बहन आकांक्षा और बहुत सारे दोस्त अहमदाबाद में
बुधवार से शुरू होने वाले डे-नाइट टेस्ट में हौसलाअफजाई करने के लिए मौजूद रहेंगे।
प्रतिमा ने हंसते हुए कहा
कि अभी 15-16 लोगों के लिए मैच टिकट की व्यवस्था करनी है।