गुरुग्राम: नकली ड्राइविंग लाइसेंस रैकेट का पर्दाफाश, पुलिस ने दबोचा

1
4

गुरुग्राम पुलिस एक मामले में एक शख्स की तलाश में राजस्थान पहुंची,

तब तक उसे अंदाजा नहीं था कि वो जिस शख्स की तलाश में वो राजस्थान के अलवर जिले

पहुंची है वो कितना बड़ा शातिर है और कितने बड़े गैंग का सदस्य है. पुलिस ने अलवर पहुंचकर

जलालुद्दीन नाम के इस शख्स को गिरफ्तार किया और उससे पूछताछ शुरू की.

इस दौरान पुलिस को ऐसी जानकारी मिली कि वो दंग रह गई.

पूछताछ के दौरान आरोपी जलालुद्दीन ने पुलिस को बताया कि उसने पिछले एक साल में दो

हजार से ज्यादा फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनाए हैं जिन्हें कैब ड्राइवर उससे खरीदा करते थे.

दरअसल इस पूरे केस की शुरुआत कुछ दिनों पहले गुरुग्राम की पुलिस चौकी से शुरू हुई,

जहां पर पुलिस ने एक कैब चालक के ड्राइविंग लाइसेंस को फर्जी पाया था. इसके बाद पुलिस ने नाके

पर चेकिंग बढ़ा दी जिसके बाद कुछ ही समय में ऐसे कई ड्राइवर पकड़े गए जो नकली लाइसेंस

के साथ गाड़ी चला रहे थे. इसके बाद पुलिस ने केस की जांच के लिए एक टीम बना दी.

जांच के दौरान टीम को जलालुद्दीन के बारे में पता चला. इसके बाद पुलिस ने टेक्निकल

सर्विलांस के जरिए जलालुद्दीन को अलवर से दबोच लिया.

पूछताछ में जलालुद्दीन ने पुलिस को बताया कि उसने बेहद कम समय में करीब 2 हजार

नकली लाइसेंस बना कर कैब चालकों को बेचे. उनमें से कई तो रेडियो टैक्सी चलाते हैं.

1 टिप्पणी

  1. Hey there, I think your website might be having browser compatibility issues. When I look at your blog site in Chrome, it looks fine but when opening in Internet Explorer, it has some overlapping. I just wanted to give you a quick heads up! Other then that, wonderful blog!

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here