छह हफ्ते में मांगा जवाब , DSP बस्सी के ट्रांसफर पर अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव को SC का नोटिस…

0
6

सुप्रीम कोर्ट ने बस्सी की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई की. याचिका में एके बस्सी ने दावा किया है कि उनका

तबादला दुर्भावना से प्रेरित है और इससे जांच ब्यूरो के पूर्व निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी की

जांच प्रभावित होगी.

सीबीआई (CBI) के डीएसपी अजय कुमार बस्सी (AK Bassi) की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने

सीबीआई के अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव (Nageswara Rao) को नोटिस जारी किया है. नोटिस का छह हफ्ते में

जवाब देने के लिए कहा गया है. डीएसपी बस्सी ने अपने पोर्ट ब्लेयर हुए तबादले को सुप्रीम कोर्ट ने चुनौती दी थी.

सुप्रीम कोर्ट ने बस्सी की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई की. याचिका में एके बस्सी ने दावा किया है कि उनका

तबादला दुर्भावना से प्रेरित है और इससे जांच ब्यूरो के पूर्व निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी की

जांच प्रभावित होगी. जांच एजेंसी के पूर्व विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में दर्ज प्राथमिकी

की जांच करने वाले एके बस्सी ने आरोप लगाया गया है कि वह जांच एजेंसी के अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव के

शोषण का शिकार हैं.

बस्सी ने अपनी याचिका में कहा है कि यह आदेश ऐसे अधिकारी ने दिया है जो ऐसे आदेश देने के लिए सक्षम नहीं है. याचिका में कहा गया है कि इस आदेश का मकसद उनका शोषण करना है और यह राकेश अस्थाना के खिलाफ 15 अक्टूबर, 2018 को दर्ज प्राथमिकी की जांच को अनुचित तरीके से प्रभावित करने वाला है. बस्सी ने याचिका में यह भी कहा है कि वह अस्थाना से संबंधित प्राथमिकी की जांच करने वाले जांच दल या किसी अन्य मामले की जांच कर रहे ब्यूरो के दल का हिस्सा बनने का दावा नहीं कर रहे हैं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here