जब युवराज सिंह ने ठोके लगातार 6 छक्के

0
0
RR VS KKR IPL Live Streaming Online: कब-कहां और कैसे देख सकेंगे कोलकाता

भारतीय टीम के सबसे खतरनाक बाएं हाथ के बल्लेबाजों में शुमार युवराज सिंह ने आज ही के दिन साल 2007 में वो कमाल किया था, जो भारतीय क्रिकेट के इतिहास में कभी नहीं हुआ था। यहां तक कि टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट के इतिहास में भी ये कमाल कोई नहीं कर पाया है। जी हां, युवराज सिंह ने आज से ठीक 13 साल पहले एक ओवर में 6 छक्के जड़कर इतिहास रचा था और एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था, जिसे तोड़ना काफी कठिन है।

दरअसल, 19 सितंबर 2007 को भारत और इंग्लैंड के बीच डरबन के मैदान पर आइसीसी टी20 वर्ल्ड कप का 21वां लीग मैच खेला गया था। इस मैच में टीम इंडिया के तत्कालीन कप्तान एमएस धौनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी थी। भारतीय टीम ने इस मैच में अच्छा प्रदर्शन किया था और 18 ओवर में 3 विकेट के नुकसान पर 173 रन बना लिए थे। इस बीच ऐसा कुछ हुआ कि युवराज सिंह ने इंग्लैंड के गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड की धज्जियां उड़ा दीं।

भारतीय पारी के 19वें ओवर से पहले भारतीय बल्लेबाज युवराज सिंह और इंग्लैंड के एंड्रयू फ्लिंटॉफ,
स्टुअर्ट ब्रॉड और कप्तान पॉल कोलिंगवुड के बीच कुछ बहस हो गई। बहस समाप्त हुई तो गेंदबाजी करने
स्टुअर्ट ब्रॉड आए और फिर जो हुआ वो एक इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया। युवराज सिंह ने एक के बाद एक
छक्कों की झड़ी लगा दी। ब्रॉड जहां भी गेंद फेंकते, युवराज वहीं से गेंद को बाउंड्री के
पार छक्के के लिए भेज देते।

स्टअर्ट ब्रॉड के कोटे के आखिरी ओवर की पहली गेंद पर सिक्सर किंग
के नाम से फेमस युवराजने हाई
बैकलिफ्ट के साथ लॉन्गऑन पर छक्का जड़ा। दूसरी गेंद को फिर से युवी ने मिड विकेट और
स्क्वायरलेग के बीच में से दर्शकों के बीच भेज दिया। तीसरी गेंद पर युवराज ने लॉन्ग
ऑफ पर छक्का जड़कर छक्कों की हैट्रिक पूरी की। इसके बाद माहौल बदल चुका था।
स्टेडियम में यूवी-यूवी का शोर था और इंग्लैंड के खेमे में खलबली मच गई थी।

स्टुअर्ट ब्रॉड, कप्तान पॉल कोलिंगवुड और फ्लिंटॉफ ने बात की कि किस तरह रन बचाए जाएं,

लेकिन युवराज सिंह रुकने वाले नहीं थे। ब्रॉड ने क्रीज का छोर बदला और गेंद को ऑफ स्टंप के
बाहर फुल टॉस फेंक दिया, जिस पर युवराज ने बल्ला चलाया और गेंद प्वाइंट्स के
ऊपर से छक्के के लिए चली गई। पांचवीं गेंद युवराज के पाले में गिरी और उन्होंने
लॉन्ग ऑन पर छक्का जड़ा। आखिरी गेंद मिड विकेट के ऊपर से 6 रनों के
लिए गई और इतिहास रच गया।