पाकिस्‍तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट के नेतृत्‍व में हुई मलाकंद की विशाल रैली में प्रधानमंत्री इमरान खान को झूठा भ्रष्‍टाचारी और डरपोक तक कहा गया।

0
0

पाकिस्‍तान के राजनीतिक हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं। देश की सरकार के खिलाफ काफी समय
से आवाज बुलंद करने वाले पाकिस्‍तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान का
कहना है कि वो देश की सरकार को हटाने के लिए कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हैं। उन्‍होंने इस मूवमेंट को
इमरान सरकार के खिलाफ जेहाद बताया है। उन्‍होंने कहा है कि ये जेहाद तब तक जारी रहेगा जब तक कि
गरीबों पर इस सरकार के जुल्‍म खत्‍म नहीं हो जाते हैं। पीडीएम के नेतृत्‍व में मलाकंद की विशाल रैली को
संबोधित करते हुए रहमान ने इमरान सरकार को भ्रष्‍टाचार में डूबी सरकार बताया। इससे पहले इसी तरह
की एक रैली बहावलपुर, पेशावर, कराची, मुल्‍तान, क्‍वेटा और लाहौर में भी हुई थी।

आपको यहां पर ये भी बता दें कि पाकिस्‍तान में फजलुर रहमान काफी समय से सरकार के खिलाफ झंडा
बुलंद किए हुए है। पीडीएम लगातार प्रधानमंत्री इमरान खान से भ्रष्‍टाचार के आरोपों के लिए इस्‍तीफा देने की
मांग कर रहा है। इसके लिए पीडीएम ने इमरान को 31 जनवरी तक की मौहलत भी दी है। पीडीएम का कहना
है कि इमरान खान की सरकार देश में जिया उल हक और जनरल परवेज मुशर्रफ की सरकार की ही तरह
शासन कर रही है। फजलुर रहमान ने कहा कि जैसे इन लोगों के शासन के दौरान देश में डेमोक्रेसी जैसी कोई
चीज नहीं बची थी, ठीक वैसे ही आज हो रहा हे। इमरान सरकार देश के संविधान के खिलाफ काम कर रही
है और देश में मार्शल लॉ लगाना चा‍हती है। ये समय मुशर्रफ और जिया उल हक से भी ज्‍यादा खतरनाक है।