पूर्व क्रिकेटर सबा करीब ने इंटरव्यू में कहा?

0
0
ICC ने की नए अवॉर्ड का ऐलान

ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर गई भारतीय क्रिकेट टीम के प्रदर्शन पर पूर्व क्रिकेटर व बीसीसीआइ के पूर्व प्रशासक सबा करीम ने संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि इस दौरे से कई सकरात्मक बातें हुई हैं, जो भारतीय क्रिकेट को मजबूती प्रदान करती हैं। एक क्रिकेट टूर्नामेंट के उद्घाटन पर रांची पहुंचे सबा करीम से दैनिक जागरण संवाददाता संजीव रंजन ने खास बात की। पेश हैं प्रमुख अंश :

-भारतीय टीम शानदार प्रदर्शन कर रही है। पहले टेस्ट में 36 रनों पर आउट होने के बाद अगले टेस्ट में वापसी कर जीत हासिल करना टीम की मानसिक मजबूती व शानदार प्रदर्शन की कहानी है। इतने छोटे स्कोर पर आउट कर पलटवार करना आसान नहीं होता, लेकिन टीम इंडिया ने यह कर दिखाया। इससे पता चलता है कि टीम के खिलाड़ी सकरात्मक सोच व बिना किसी दबाव के खेल रहे हैं।

चोट लगना खेल का अंग है। यह जरूर है कि लंबे अंतराल के बाद आइपीएल खेलना,
फिर वहां से ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने से खिलाड़ियों पर निश्चित तौर पर कुछ दबाव बना है।
ऑस्ट्रेलिया में विशेष प्रदर्शन करने की सोच ने भी खिलाडि़यों पर कुछ दबाव बनाया है।
इससे वे चोटिल हुए हैं, लेकिन हमें यह भी देखना चाहिए कि कई वरिष्ठ खिलाडि़यों के नहीं होने के बावजूद टीम इंडिया बेहतर प्रदर्शन कर रही है।

लैंगर को अपने देश के क्रिकेट पर ध्यान देना चाहिए। उनके यहां बिग बैश लीग का आयोजन होता है,
जो लगभग दो महीने चलता है। आइपीएल विश्व की सबसे लोकप्रिय लीग है जिसमें सब खेलना चाहते हैं।
यह लैंगर का अपना विचार हो सकता है, लेकिन मैं उनसे सहमत नहीं।

इस दौरे ने विश्व क्रिकेट को दिखा दिया है कि भारतीय बेंच स्ट्रेंथ कितनी मजबूत है। बुमराह, शमी,
जडेजा, अश्विन जैसे अनुभवी गेंदबाजों के नहीं रहने के बावजूद युवा तेज गेंदबाज टी नटराजन, मुहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर,
वाशिंगटन सुंदर ने शानदार प्रदर्शन किया है। इनके प्रदर्शन को देखकर कहा जा सकता है
कि भारत का तेज व स्पिन आक्रमण भविष्य में और बेहतर होगा।