फाइजर इंक और उसके समूह की कंपनियों ने अमेरिका की अदालत में अरविंदों फार्मा लिमिटेड और डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज के खिलाफ मुकदना दायर किया …

0
0

अमेरिका में कोरोनो वैक्सीन का निर्माण कर रही कंपनी फाइजर इंक और उसकी समूह कंपनियों ने भारतीय
दवा कंपनियां अरविंदो फार्मा लिमिटेड और डा रेड्डी लैबोरेटरीज के खिलाफ अमेरिकी कोर्ट में अर्जी दाखिल
की है। फाइजर ने आरोप लगाया है कि भारतीय दवा निर्माता कंपनियां उसकी अरबों डॉलर का राजस्व अर्जित
करने वाली दवा इब्रैंस (पाल्बोसिक्लिब) की पेटेंट अवधि समाप्त होने से पहले उसका जेनेरिक वर्जन लाने की
योजना बना रही हैं।

फाइजर ने अरविंदो फार्मा के खिलाफ डेलावेयर स्थित अमेरिकी डिस्टि्रक कोर्ट में और डा.रेड्डी के खिलाफ
न्यूजर्सी कोर्ट में संभावित पेटेंट उल्लंघन का मामला दायर किया है। पाल्बोसिक्लिब का प्रयोग खास किस्म के
ब्रेस्ट कैंसर के इलाज में प्रयोग किया जाता है। यह दवा कैंसर सेल्स के विकास को धीमा करती है या उसे
रोक देती है। फाइजर की 2019 की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक, इब्रैंस ने दुनिया भर में करीब पांच अरब
डॉलर (करीब 37 हजार करोड़ रुपये) का राजस्व अर्जित किया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here