बिहार के राजगीर में भी कर सकते हैं पर्यटक Glass Skywalk

0
2
बिहार के राजगीर में भी कर सकते हैं पर्यटक Glass Skywalk

अब पर्यटक बिहार में भी Glass Skywalk का आनंद ले सकते हैं। इसके लिए बिहार राज्य स्थित नालंदा जिले के

राजगीर में 200 फीट की ऊंचाई पर ग्लास ब्रिज (शीशे का पूल) बनकर तैयार हो गया है। हालांकि, इस ब्रिज का

उद्घाटन अगले साल होने जा रहा है। इसके बाद ही पर्यटक Glass Skywalk का आनंद ले पाएंगे। इसके साथ ही

पर्यटक राजगीर में जू सफारी पर भी जा सकते हैं और ग्लास रोपवे से घने जंगल की सैर कर सकते हैं।

क्या है तैयारी

सोशल मीडिया पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार की एक तस्वीर वायरल हो रहा है, जिसमें नितीश कुमार Glass

Skywalk पर खड़े हैं। पर्यटकों को रिझाने के लिए Glass Skywalk के साथ ग्लास रोपवे सफर की शुरुआत भी अगले

साल से होगी। ग्लास रोपवे में 18 केविन्स हैं। जबकि, एक केविन में 8 पर्यटक जू सफारी का आनंद ले सकते हैं। जू

सफारी के दौरान 750 मीटर की दूरी 5 मिनट में तय किया जाएगा। इसके अलावा पर्यटक एयर साइकिलिंग कर सकते

हैं। सरकार की तरफ से बटरफ्लाई पार्क और आयुर्वेद पार्क भी बनाया जा रहा है। पर्टयकों के ठहरने के लिए कॉटेज

बनाए जाएंगे। यह भारत का दूसरा ग्लास स्काईवॉक ब्रिज है। इससे पहले ग्लास स्काईवॉक ब्रिज सिक्किम में बनकर तैयार

हो चुका है।

राजगीर में क्या है खास

जैसा कि आप सब जानते हैं कि नालंदा प्राचीन समय से दुनियाभर में प्रसिद्ध है। इस नगरी में विश्व का पहला आवासीय

विश्वविद्यालय था। इस विद्यालय में पढ़ने के लिए दुनियभर से छात्र आते थे। ह्वेनसांग ने जीवन वृतांत में नालंदा विश्वविद्यालय

का जिक्र किया है। तत्कालीन समय में 10 हजार छात्र और 15 सौ आचार्य थे। इसके अतिरिक्त नालंदा में ब्रह्मकुंड, विश्व

शांति स्तूप और सोने का खजाना भी है।