भारत या इंग्लैंड पिंक बॉल टेस्ट में किसका पलड़ा भारी..

0
0
मैच की पिच के बारे में बताया और कहा- इससे चैलेंजिंग तो दूसरे मैच की पिच थी

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही चार मैचों की सीरीज का तीसरी मुकाबला बुधवार से
अहमदाबाद में शुरू होने जा रहा है। दोनों टीमें पहली बार भारत में डे नाइट टेस्ट खेलने उतरेगी।
पूर्व भारतीय ओपनर

गौतम गंभीर ने कहा है कि यह मैच दोनों टीमों के लिए एक जैसा होगा। भारत और इंग्लैंड की टीमें यहां बराबरी पर उतरेंगी।

गंभीर बोले, “यह एक नया स्टेडियम है, एक नई विकेट और यह टेस्ट मैच पिंक बॉल से खेला जाना है।
इसलिए यह कोई नहीं जानता है कि गेंद किस तरह से हरकत करेगी, सीम होगी या बाउंस।
साथ ही यह दोनों टीमों के लिए भी नई जगह है, इसी वजह से दोनों टीमें यहां बराबरी से शुरूआत करेगी।”

आगे उन्होंने कहा, “अगर हम चेन्नई की बात करें तो टीम के वहीं के पिच के बारे में पता था
लेकिन मोटेरा में ना तो इंग्लैंड और ना ही भारतीय टीम पिच की स्थिति का अंदाजा लगा सकती है।

जो रूट को काफी खुशी होती अगर उनसे किसी ने यह कहा होता की पिंक बॉल टेस्ट खेलने के लिए आप 1-1 की बराबरी के साथ उतरेंगे। भारतीय टीम के पास तेज गेंदबाजी आक्रमण कमाल की है जो इंग्लैंड के लिए मुश्किल है ऐसी ही कुछ भारत के साथ भी है।

इंग्लैंड के पास भी तेज गेंदबाजी आक्रमण है। यह देखना वाकई दिलचस्प होगी कि दोनों टीमों के कैसा पिच मिलता है।”

जब हम तेज गेंदबाजी की बात करते हैं तो इंग्लैंड के पास इसकी कमी नहीं है।
जो रूट को अपने गेंदबाजों को जोश दिलाना होगा। उदाहरण के तौर पर हमने
दूसरे टेस्ट के दौरान चेन्नई में देखा कि अनुभवी स्टुअर्ट ब्रॉड अपने सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में गेंदबाजी नहीं कर पाए।
पहले टेस्ट मैच में वह शामिल भी नहीं थे।
दूसरी पारी में उन्होंने लय हासिल की थी लेकिन गेंद उनको काफी देर से दिया गया।”