सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवाणे ने भारतीय सेना की वार्षिक कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि पिछला साल काफी चुनौतियों से भरा था।

0
0

सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवाणे ने भारतीय सेना की वार्षिक कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि पिछला
साल काफी चुनौतियों से भरा था और इनका सामना करते हुए हमें आगे बढ़ना था। अपने संबोधन में उन्होंने
कहा कि भारत के लिए पाकिस्तान और चीन बड़ा खतरा है। इनसे निपटने के लिए सही समय में उचित कार्रवाई
की जाएगी। सेना प्रमुख ने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से  लगातार आतंकवाद को बढ़ावा दिया जा रहा है,
लेकिन हम आतकंवाद के लिए जीरो-टोलरेंस रखते हैं। उन्होंने साफ संदेश देते हुए कहा कि  सही समय आने
पर हम इसके खिलाफ उचित कार्रवाई करेंगे।

उन्होंने कहा कि पिछले साल कई चुनौतियों का सामना किया और आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि हमने सिर्फ लद्दाख
ही नहीं बल्कि पूरे एलएसी पर उच्च स्तर की निगरानी की हुई है। साथ ही कोर कमांडर स्तर के आठवें दौर की
बातचीत हो चुकी है, अब 9वें दौर की वार्ता का इंतजार है। आगे उन्होंने कहा कि हमें बातचीत के माध्यम से
समाधान निकालने की उम्मीद कर रहे हैं।