CBI पर देरी के आरोपों के बीच महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने कही यह बात

0
1
CBI पर देरी के आरोपों के बीच महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने कही यह बात

सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस की जांच कर रही केंद्रीय एजेंसी सीबीआई पर अब देरी के आरोप लग रहे हैं। इन आरोपों के बीच अब महाराष्ट्र सरकार के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि उन्हें भी नतीजे का बेसब्री से इंतज़ार है। बता दें कि सुशांत के परिजन भी सीबीआई की जांच में देरी पर असंतोष ज़ाहिर कर चुके हैं।

एएनआई के अनुसार, महाराष्ट्र के होम मिनिस्टर अनिल देशमुख ने सोमवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच मुंबई पुलिस पूरे व्यावसायिक ढंग से कर रही थी, लेकिन अचानक यह केस सीबीआई को सौंप दिया गया। हमें भी उनकी जांच के नतीजे का बेसब्री से इंतज़ार है। लोग पूछ रहे हैं कि उन्होंने आत्महत्या की या क़त्ल किया गया था। हम जांच के परिणाम का इंतज़ार कर रहे हैं।

बता दें कि 14 जून को सुशांत सिंह राजपूत की डेड बॉडी उनके बांद्रा स्थित आवास पर मिली थी। मुंबई पुलिस ने शुरुआती रिपोर्ट्स के आधार पर इसे सुसाइड माना, जिसकी पुष्टि पोस्टमार्टम और विसरा रिपोर्ट से भी हुई। मगर, सुशांत के परिजन और फैंस इसे सुसाइड मानने के लिए तैयार नहीं थे। लिहाज़ा सुशांत के पिता द्वारा पटना में एफआईआर दर्ज़ करवाने के बाद बिहार सरकार की संस्तुति पर केंद्र ने मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी।

सुशांत की मौत के कारण का पता लगाने के लिए एम्स के फोरेंसिक एक्सपर्ट्स की टीम का
भी गठन किया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, एम्स की टीम भी मौत की सही वजह
पता नहीं कर सकी है।
हालांकि अभी तक आधिकारिक तौर पर रिपोर्ट आना बाक़ी है। सुशांत की मौत को तीन
महीने से अधिक होने
के बाद भी तस्वीर साफ़ ने होने की वजह से फैंस ने सोशल मीडिया में एक
बार फिर अभियान तेज़ कर दिया है,
जिसके चलते सोमवार को ट्विटर पर

वहीं, ऐसी रिपोर्ट्स भी आ रही हैं कि सुशांत के दोस्त गणेश हिवारकर और पूर्व कर्मचारी
अंकित आचार्य भूख हड़ताल पर जाने वाले हैं।