Franklin Templeton Mutual Fund बंद किए गए छह बांड निवेश योजनाओं में अप्रैल से अब तक 8302 करोड़ रुपये की प्राप्ति हुई

0
0
Franklin Templeton Mutual Fund बंद किए गए छह बांड निवेश योजनाओं में अप्रैल से अब तक 8302 करोड़ रुपये की प्राप्ति हुई

कंपनी ने जानकारी दी है कि यह प्राप्ति मेच्योरिटी, प्री-पेमेंट और कूपन पेमेंट के रूप में हुई है। फ्रैंकलिन टेम्प्लेटन ने बांड बाजार में लिक्विडिटी की पर्याप्त उपलब्धता नहीं होने और रिडेम्पशन से जुड़े दबाव का हवाला देते हुए 23 अप्रैल को छह डेट म्यूचुअल फंड स्कीम्स को बंद कर दिया था।

फ्रैंकलिन टेम्पलेटन की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि 24 अप्रैल से 15 अक्टूबर तक इन छह योजनाओं में परिपक्वता, समय पूर्व भुगतान और कूपन (अंकित ब्याज) के रूप में 8,302 करोड़ रुपये की प्राप्ति हुई।

कंपनी ने कहा है कि इस धन के कुछ हिस्से का इस्तेमाल कर्ज के भुगतान के लिए किया गया है। कर्ज के भुगतान के बाद 5,116 करोड़ रूपये की राशि बची हुई है।

इस राशि का इस्तेमाल चार सकारात्मक नकदी प्रावाह वाली बांड निवेश योजनाओं-फ्रैंकलिन इंडिया अल्ट्रा शर्ट बांड फंड, फ्रैंकलिन इंडिया डायनमिक एक्रूअल फंड, फ्रैंकलिन

इंडिया लो ड्यूरेशन फंड, फ्रैंकलिन इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड के यूनिटहोल्डर्स को उनके यूनिट निवेश के बदले चुकाया जा सकता है।

फंड हाउस ने कहा है कि अदालत ने छह स्कीम को बंद करने से जुड़े मामलों की सुनवाई पूरी कर ली है और वह इस बारे में अदालत के फैसलों की प्रतीक्षा कर रहा है।

फंड हाउस ने कहा है कि उसका मुख्य ध्यान अधिकतम वैल्यू जेनरेट करने और नियमों के मुताबिक आपकी धनराशि को जल्द-से-जल्द से वापस करने पर है।