Heranba Industries IPO: खुल गया है साल का आठवां आईपीओ..

0
0
Heranba Industries IPO: खुल गया है साल का आठवां आईपीओ

हेरंबा इंडस्ट्रीज (Heranba Industries) का आईपीओ मंगलवार यानी 23 फरवरी से सब्सक्रिप्शन के लिए खुल गया है। पिछले कुछ महीनों से आईपीओ को लेकर निवेशकों में काफी अधिक उत्साह देखने को मिला है।

इस साल आईआरएफसी, इंडिगो पेंट्स, होम फर्स्ट फाइनेंस कंपनी, स्टोव क्राफ्ट, ब्रूकफिल्ड इंडिया REIT,

न्यूरेका और रेलटेल कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के आईपीओ लॉन्च हो चुके हैं।
हेरंबा इंडस्ट्रीज का आईपीओ इस साल का आठवां आईपीओ है। आइए इस आईपीओ के
बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें जानते हैं।

हेरंबा इंडस्ट्रीज के आईपीओ को 25 फरवरी तक सब्सक्राइब किया जा सकता है। आईपीओ में कंपनी ने 626 से 627 रुपये का प्राइस बैंड तय किया है। इस इश्यू में एक लॉट 23 शेयरों का है। अर्थात आईपीओ में न्यूनतम 23 शेयरों के लिए बोली लगानी होगी। इस तरह लॉअर प्राइस बैंड पर एक लॉट की कीमत 14,398 रुपये है। इस इश्यू में रिटेल निवेशक अधिकतम 13 लॉट के लिए बोली लगा सकते हैं।

इस आईपीओ में कंपनी 60 करोड़ रुपए का फ्रेश इश्यू जारी करेगी। इसके अलावा प्रमोटर 90.15 लाख शेयर ऑफर फॉर सेल (OFS) के तहत बेचेंगे। इस इश्यू में कंपनी के प्रमोटर सदाशिव के शेट्टी 58,50,000 शेयर और रघुराम के शेट्टी 22,72,038 शेयर बेचेंगे। इसके अलावा सैम्स इंडस्ट्रीज 8,12,962 शेयर,

बाबू के शेट्टी 40,000 शेयर और विट्टल के भंडारी 40,000 शेयर बेचेंगे। कंपनी का उद्देश्य
इस आईपीओ के माध्यम से 624.34 से 625.24 करोड़ रुपए जुटाना है। कंपनी इस इश्यू से प्राप्त रकम का

उपयोग अपनी कामकाजी पूंजी की जरूरतों को पूरा करने में करेगी।

कंपनी के शेयर पांच मार्च, 2021 को बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध हो सकते हैं।
एमके ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज और बाटलीवाला एंड करनी सिक्योरिटीज इंडिया
इस आईपीओ के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं। एंकर निवेशकों के लिए यह इश्यू 22 फरवरी को खुला था।

हेरंबा इंडस्ट्रीज गुजरात बेस्ड एक एग्रो केमिकल कंपनी है। यह कीटनाशक,
फंगीनाशक और खरपतवारनाशक बनाती है। यह कंपनी सिंथेटिक पाइरेथ्रॉइड की प्रमुख घरेलू उत्पादक कंपनी है।
कंपनी कई देशों में अपने उत्पाद निर्यात करती है। कंपनी के पास 21 भंडारण केंद्र हैं।
कंपनी के डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क में देश भर के 16 राज्यों और 1 केंद्रशासित प्रदेश से 9,400 से ज्यादा डीलर जुड़े हुए हैं।