World Arthritis Day 2020: अर्थराइटिस से पीड़ित है तो सबसे पहले अपनी डाइट को दुरुस्त करें, जानिए बेस्ट डाइट ..

0
7
ARTHRITIS

हर साल 12 अक्तूबर को वर्ल्ड अर्थराइटिस डे इसलिए मनाया जाता है कि लोग इस बीमारी को नज़रअंदाज
नहीं करे, बल्कि इस बीमारी के प्रति जागरूक रहें। पहली बार गठिया दिवस 12 अक्तूबर 1996 को
अर्थराइटिस इंटरनेशनल द्वारा आयोजित किया गया था। तब से अब तक इस दिन को सेलिब्रेट किया
जा रहा है।

अर्थराइटिस एक ऐसी परेशानी है, जिसकी वजह से बॉडी के किसी भी हिस्से में गठिया का दर्द पैदा होने
लगता है। ये दर्द खासकर औरतों को ज्यादा होता है, क्योंकि वो अपने खान-पान पर बिल्कुल ध्यान नहीं
देतीं। शरीर में कैल्शियम की कमी के कारण अर्थराइटिस की परेशानी होती है। इस दर्द को ही गठिया या
जोड़ों का दर्द कहते हैं। अर्थराइटिस डाइट की वजह से होने वाली एक ऐसी परेशानी है, जो किसी भी उम्र
के लोगों को अपनी चपेट में ले सकती है।

यह दर्द शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है, जहां हड्डियां  आपस में जुड़ने लगती है। इस तकलीफ
से मरीज को चलने फिरने में बेहद परेशानी होती है। अर्थराइटिस के मरीज के लिए उसका खान-पान बेहद
अहमियत रखता है। उसे अपनी डाइट में ऐसी चीजों को शामिल करना चाहिए, जिनसे उसके जोड़ों का
दर्द कंट्रोल में रहें। आइए जानते हैं कि अर्थराइटिस के मरीज को अपनी डाइट में किन चीजों का सेवन
करना चाहिए।

आपको जोड़ों के दर्द की परेशानी हैं तो आप फ्रिज का रखा हुआ सामान नहीं खाएं। दही, छाछ, कुल्फी,
आइस्क्रीम का सेवन नहीं करें।

अगर आपको प्रोसेस्ड फूड खाने का शौक है, तो इस आदत को सबसे पहले बदल डालें। प्रोसेस्ड फूड
को प्रिजर्व करने के लिए ट्रांस फैट का इस्तेमाल किया जाता है, जो मोटापा बढ़ाने के लिए जिम्मेदार है।