World Cup 2019: विराट कोहली ने केएल राहुल को सराहा, नंबर 4 पर बैटिंग को लेकर दिया यह चतुराईभरा जवाब

0
3

मैच के बाद Virat Kohli ने कहा, ” मैच का सबसे बड़ा पॉजिटिव केएल राहुल (KL Rahul) का नंबर-4 पर बल्लेबाजी करना रहा.

राहुल ने अपनी शतकीय पारी के दौरान काफी परिपक्‍वता दिखाई.

World Cup 2019: वर्ल्‍डकप-2019 (World Cup 2019 ) bमें अपने अभियान की शुरुआत के पहले टीम इंडिया (Team India) को जिस आत्‍मविश्‍वास की जरूरत थी,

वह विराट ब्रिगेड ने शानदार प्रदर्शन करते हुए हासिल किया.

अपने पहले वॉर्मअप मैच में न्‍यूजीलैंड के हाथों शिकस्‍त झेलने वाली टीम इंडिया ने

मंगलवार को अपने दूसरे वार्मअप मैच (India vs Bangladesh,  Warm-up game) में बांग्‍लादेश को 95 रन से हराया.

जीत के अलावा सबसे बड़ी बात यह रही कि बल्‍लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही

क्षेत्र में कई पॉजिटिव पहलू नजर आए. बैटिंग ने जहां केएल राहुल (Lokesh Rahul)और एमएस धोनी (MS Dhoni)ने शतक ठोके,

वहीं गेंदबाजी में युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal), कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav)और जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) धारदार नजर आए.

राहुल ने शतक जमाकर नंबर-4 को लेकर चल रही चर्चा पर काफी हद तक विराम लगा दिया है.

मैच के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने केएल राहुल की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनका फॉर्म भारत के लिए सकारात्मक संकेत है.

 

बांग्‍लादेश के खिलाफ वार्मअप मैच में में राहुल ने 99 गेंदों पर 108 रनों की पारी खेली जिसमें 12 चौके और चार छक्के शामिल रहे.

कोहली (Virat Kohli) ने कहा, ” मैच का सबसे बड़ा पॉजिटिव केएल राहुल

(KL Rahul) का नंबर-4 पर बल्लेबाजी करना रहा. अन्य सभी खिलाड़ी अपनी भूमिका को समझते हैं

इसलिए राहुल का रन बनाना बहुत अहम है क्योंकि वह बहुत अच्‍छा खिलाड़ी हैं.

वह स्कोरबोर्ड को आगे बढ़ा सकते हैं और आपने यह देखा – यह उनके स्किल का बेहतरीन उदाहरण है.

” यह पूछे जाने पर कि क्या वह वर्ल्‍डकप में नंबर-4 पर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हैं,

राहुल (Lokesh Rahul)ने कहा, “यह एक टीम गेम है

और आपको जहां बोला जाए वहां बल्लेबाजी करने के लिए तैयार रहना पड़ेगा.

एक खिलाड़ी के रूप में आपको जो रोल दिया जाए उसे निभाने के लिए तैयार रहना होगा.”

 

राहुल (Lokesh Rahul)ने अपनी शतकीय पारी के दौरान काफी परिपक्‍वता दिखाई. वे दो विकेट गिरने के बाद मैदान पर उतरे और शुरुआत में जोखिम भरे स्‍ट्रोक खेलने से परहेज करते हुए स्‍कोर को बढ़ाया. सेट होने के बाद उन्‍होंने खुलकर स्‍ट्रोक खेले. मैच के बाद राहुल ने कहा, “इस स्तर पर खेलने वाला हर बल्लेबाज जानता है कि दबाव पर कैसे काबू पाना है और उसे दी गई जिम्मेदारियों को कैसे संभालना है. मैंने भी आज यही किया.” (इनपुट: एजेंसी)