अगर IPL हुआ कैंसिल तो फिर MS Dhoni समेत ये 5 भारतीय खिलाड़ी नहीं खेल पाएंगे वर्ल्ड कप

0
1

IPL 2020 की शुरुआत 29 मार्च से होनी थी, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से बीसीसीआई ने इस लीग को 15 अप्रैल तक के लिए सस्पेंड कर दिया गया है। यहां तक कि आइपीएल का 13वां सीजन 15 अप्रैल से शुरू हो पाएगा, इसकी भी गारंटी नहीं है। हालांकि, कुछ रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जुलाई-सितंबर विंडो में आयोजित कराया जा सकता है। वहीं, अगर इस बार आइपीएल नहीं होता है तो फिर महेंद्र सिंह धौनी समेत तमाम खिलाड़ियों को काफी नुकसान हो सकता है।

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी समेत 5 भारतीय खिलाड़ियों के लिए आइपीएल 2020 काफी अहम है। पैसे तो हर खिलाड़ी गंवाएगा ही, अगर आइपीएल नहीं हुआ तो फिर कुछ संभावित खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप का भी टिकट गंवा सकते हैं,
जिनमें खुद एमएस धौनी कै नाम शामिल है। यही कारण है कि आइपीएल भारत के लिए ही नहीं,
बल्कि कई और देशों के खिलाड़ियों के लिए भी अहम है।

आइपीएल नहीं होने की स्थिति में एमएस धौनी को करोड़ों रुपयों का तो नुकसान होगा ही साथ ही साथ
वे टी20 वर्ल्ड कप की टीम में भी नहीं चुना जाएंगे। जुलाई 2019 में आखिरी मैच खेलने वाले एमएस धौनी को
लेकर टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री पहले ही कह चुके हैं कि अगर धौनी का प्रदर्शन
आइपीएल में अच्छा होता है और बाकी विकेटकीपर बल्लेबाज औसत से भी कम प्रदर्शन करते हैं
तो फिर उनको टी20 वर्ल्ड कप की स्कीम ऑफ
थिंग्स में शामिल किया जा सकता है।

ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या को भारतीय टीम में लगातार मौका मिला। यहां तक कि भाई हार्दिक
पांड्या के साथ भी उनको टीम में बनाए रखा गया, लेकिन उनका प्रदर्शन टी20 फॉर्मेट में गिरता
चला गया और वे टीम से बाहर हो गए।
वहीं, ऑलराउंडर के तौर पर अब टीम में रवींद्र जड़ेजा और हार्दिक पांड्या हैं। ऐसे में उनको
टीम में जगह बनाने के लिए आइपीएल में अच्छा प्रदर्शन करना था, लेकिन आइपीएल होगा या नहीं ये बड़ा सवाल है।

वर्ल्ड कप 2019 में खराब प्रदर्शन की वजह से विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को भारतीय टीम से
बाहर कर दिया गया। यहां तक कि भारत को निदास ट्रॉफी जिताने वाले कार्तिक को टी20 टीम में
भी जगह नहीं मिली। ऐसे में दिनेश कार्तिक के पास भी आइपीएल में एक बड़ा मौका टीम में वापसी करने का था,
लेकिन अब आइपीएल होगा तो पता चलेगा। अगर आइपीएल नहीं होता है तो वे टीम में शायद कभी न चुने जाएं।

एमएस धौनी के क्रिकेट से दूरी बनाने के बाद रिषभ पंत को लगातार भारतीय टीम में जगह मिली,
लेकिन वे कई मौकों पर विफल रहे। ऐसे में संजू सैमसन को टीम में चुना गया। सालों पहले डेब्यू
करने के बाद इस साल
उनको तीन मौके मिले, लेकिन वे बड़ा स्कोर करने में कामयाब नहीं हुए। ऐसे में एक बार फिर से
उनको आइपीएल के
प्रदर्शन से उम्मीद थी और वर्ल्ड कप खेलने का मौका था, लेकिन अभी कुछ कहा नहीं जा सकता।

पैर की सर्जरी कराने के बाद फिट हो चुके सुरेश रैना के पास भी भारतीय टीम में जगह बनाने का मौका था
और वे वर्ल्ड कप खेलने की इच्छा भी जाहिर कर चुके थे, लेकिन आइपीएल रद होने के आसार कोरोना
वायरस की वजह से लग रहे हैं। ऐसे में साल 2018 में आखिरी मैच खेलने वाले दमदार मिडिल
ऑर्डर बल्लेबाज सुरेश रैना भी टी20 वर्ल्ड कप की संभावितों में भी सामिल नहीं होंगे।