अपने ‘प्रसिद्ध शॉट’ की रोहित शर्मा के छक्के से तुलना पर सचिन ने आईसीसी को दिया यह मजेदार जवाब

0
9

India vs Pakistan: यूं तो रोहित शर्मा ने अपनी शतकीय पारी में तीन छक्के जड़े, लेकिन हसन अली के फेंके 27वें ओवर में डीप प्वाइंट के ऊपर से रोहित ने जो छक्का जड़ा, उसने करोड़ों भारतीयों क्रिकेटप्रेमियों सहित आईसीसी का दिल भी बाग-बाग कर दिया

मैनचेस्टर:

जब बात वर्ल्ड कप (World Cup 2019) में पाकिस्तान के साथ मुकाबलों की आती है,

तो करोड़ों भारतीयों को सिर्फ मैच ही नहीं, बल्कि एक-एक शॉट जहन में रहता है.

फिर बात चाहे साल 1992 में खेले गए वर्ल्ड कप की हो, या फिर इंग्लैंड में जारी विश्व कप (World cup 2019) की. बस चर्चा छेड़ने की देर होती है कि क्रिकेटप्रेमी एक-एक करके सारे शॉट आपको याद दिलाने लगते हैं.

कुछ ऐसे ही पाकिस्तान (India vs Pakistan) के खिलाफ रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का छक्का चर्चा का विषय बना हुआ है. और छक्के की गूंज जब आईसीसी तक पहुंची,

तो उसने अपने ही अंदाज में इस छक्के को दुनिया के सामने पेश किया.

दरअसल आईसीसी ने इस छक्की के तुलना सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के प्रसिद्ध शॉट से करते हुए दुनिया भर के करोडों क्रिकेटप्रेमियों के सामने एक बहुत ही मुश्किल सवाल खड़ा कर दिया.

यूं तो रोहित शर्मा ने अपनी शतकीय पारी में तीन छक्के जड़े, लेकिन हसन अली के फेंके 27वें ओवर में

डीप प्वाइंट के ऊपर से रोहित ने जो छक्का जड़ा, उसने करोड़ों भारतीयों क्रिकेटप्रेमियों

सहित आईसीसी का दिल भी बाग-बाग कर दिया. रोहित के इस छक्के ने

आईसीसी को सचिन तेंदुलकर के एक बहुत ही स्पेशल छक्के की याद दिला दी.

 

सचिन का वह छक्का आज भी करोड़ों भारतीयों को अभी भी रोमांचित कर देता है,

जो उन्होंने साल 2003 में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए विश्व कप में

पाकिस्तान के खिलाफ शोएब अख्तर की गेंद पर जड़ा था.

और रोहित ने भी कमोबेश बिल्कुल ठीक इसी अंदाज में हसन अली को छक्का जड़ा.

वास्तव में दोनों के जड़े छक्के में एक बार को ज्यादा अंतर नजर नहीं आता.

यही वजह रही कि आईसीसी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इसे पोस्ट करते हुए सवाल पूछा ‘कौन सा छक्का बेहतर है?’

आईसीसी का यह सवाल वायरल हो गया. और जब यह सचिन तक पहुंचा,

तो उन्होंने अपने तरीके से इसका बहुत ही मजेदार जवाब दिया.

सचिन ने इस छक्के पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हम दोनों ही भारत से हैं.

और इस मामले में तो दोनों ही मुंबई से आते हैं. ऐसे में हेड आता है तो मेरी जीत और टेल आता है,

तो आपकी हार!! सचिन ने अपने विनोदी स्वभाव में जवाब देते हुए आईसीसी को बता दिया कि दोनों ही

मामलों में जीत उन्हीं की है. वैसे एक बात तो साफ है कि कि

साल 2003 वर्ल्ड कप में खेली पाकिस्तान टीम ज्यादा बेहतर थी और गेंदबाज भी सचिन के सामने शोएब अख्तर थे

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here