अमेठी में हिरासत में मौत पर भड़का विपक्ष, प्रियंका ने कहा- लोगों को परेशान कर रही यूपी पुलिस ..

0
0
priyanka gandhi

अमेठी में पुलिस हिरासत में हुई मौत को लेकर विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा है। विपक्षी दलों ने सरकार
पर झूठी दलीलें देकर मामले को दबाने की साजिश का आरोप लगाया है। निष्पक्ष जांच कराने व पीड़ित
परिवारीजन को तत्काल राहत राशि देने की मांग की है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्र ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया कि ‘यूपी पुलिस अपराधियों
पर मेहरबान है, लेकिन हर दिन नागरिकों को परेशान करने में माहिर है। प्रतापगढ़ के सत्य प्रकाश शुक्ला का
परिवार बता रहा है कि उनको बच्चों के सामने टॉर्चर किया गया। हापुड़ में इस तरह की घटना हुई थी। भाजपा
सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही।’

इससे पहले समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने इस मुद्दे पर ट्वीट करके सरकार को घेरा। उन्होंने लिखा,
‘अमेठी में पुलिस हिरासत में हुई सत्य प्रकाश शुक्ला की मौत से उपजे जनाक्रोश को भाजपा सरकार झूठी दलीलें
देकर दबाना चाह रही है। परिवारीजन में थर्ड डिग्री की प्रताड़ना का जो आरोप लगाया है, उसकी निष्पक्ष जांच
होनी चाहिए नहीं तो भाजपा सरकार से जनता का रहा-सहा भरोसा भी उठ जाएगा।’

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने आरोप लगाया कि अमेठी की घटना में जहां 26 लाख की
लूट हुई, वहां पुलिस अपराधियों तक नहीं पहुंच पायी। निर्दोषों का उत्पीड़न किया जा रहा है। हिरासत में लिए
गए सत्यप्रकाश शुक्ला की मौत के लिए पुलिस जिम्मेदार है। परिवार के लोग आरोप लगा रहे हैं कि पुलिस ने
थर्ड डिग्री का प्रयोग किया जिसके कारण शुक्ला की मौत हुई। लल्लू ने चेतावनी दी है कि हिरासत में मौत की
निष्पक्ष जांच न करायी गई तो कांग्रेस व्यापक आंदोलन करेगी। वहीं जनता दल यूनाइटेड के प्रवक्ता प्रो. केके
त्रिपाठी ने हिरासत में मारे गए सत्यप्रकाश के परिवारीजन को 20 लाख रुपये राहत राशि देने की मांग की।
रालोद के प्रवक्ता अनिल दुबे ने घटना की जांच हाई कोर्ट के जज से कराने की मांग की है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here