अलीगढ़ में बिजली महकमा ने दो लाख उपभोक्ताओं को दी टेंशन, ये है वजह….

0
16

नई दिल्ली । उत्तरी दिल्ली नगर निगम (NDMC) का महत्वाकांक्षी रानी झांसी फ्लाईओवर जनता के लिए खोल दिया गया। 99.38 करोड़ रुपये से बने इस फ्लाईओवर का उद्घाटन थोड़ी देर पहले स्थानीय सांसद व केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने फीता काटकर किया।

इस मौके पर हरदीप सिंह पुरी, विजय गोयल, उपराज्यपाल अनिल बैजल, उत्तरी दिल्ली नगर निगम के महापौर आदेश गुप्ता समेत निगम के कई नेता मौजूद रहे। उद्घाटन से ठीक पहले फ्लाईओवर को सजाया गया है और कलाकारों ने यहां पर नृत्य भी पेश किया।

अलीगढ़ (जेएनएन)। शहर में बिजली तो भरपूर आ रही है, लेकिन बिल नहीं आ रहे। मीटर रीडिंग न होने से ग्राहक बेहद टेंशन में हैं। शहर के 2.20 लाख उपभोक्ताओं में से करीब 20 हजार की ही मीटर रीडिंग हो सकी है। इसकी शिकायत ऊर्जा मंत्री से की गई है, फिर भी काम में तेजी नहीं आई है।

उपभोक्ताओं की बढ़ी मुसीबत

मीटर रीडिंग की जिम्मेदारी पहले मेरठ की साईं इंटरप्राइजेज के पास थी। जिसका कांट्रैक्ट सितंबर में पूरा हो गया। बिजली विभाग ने मीटर रीडिंग की नई जिम्मेदारी अक्टूबर से विशाखापत्तनम की स्ल्यूएंट ग्रेड कंपनी को दी। कंपनी ने शहर को चार डिवीजन में बांटा है। एक डिवीजन में 20 से 25 कर्मचारी मीटर रीडिंग के लिए लगाए गए हैं। ये नाकाफी हैं। वे सभी की मीटर रीडिंग नहीं कर पा रहे हैं।

ऊर्जा मंत्री से शिकायत

रालोद नेता प्रतीक चौधरी ने बिल न आने की शिकायत ट्विटर पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा व दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम के एमडी से की है। प्रतीक के अनुसार अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है।  बिल न आने से ग्राहकों को परेशानी हो रही है। उन्हें समय से बिल जमा करने पर मिलने वाली छूट नहीं मिल पाएगी।

उपभोक्ताओं की बढ़ी चिंता

राम विहार कॉलोनी के रहने वाले कुलदीप चौहान बताते हैं कि इस माह अभी तक मीटर रीडिंग नहीं हुई, बिल भी नहीं आया। बिजलीघर गए तो संतोषजनक जवाब नहीं मिला। बिल जमा न होने पर पेनल्टी का डर सता रहा है। पला रोड नीलम नगर के नितिन अग्रवाल ने बताया कि पहली बार हुआ है कि आधा महीना बीतने पर भी बिल नहीं पहुंचा है। महीने की सात तारीख तक आ जाता था। मीटर रीडिंग करने भी कोई नहीं आया।

तकनीकि कमी से हुई देरी

स्ल्यूएंट ग्रेड कंपनी के जोनल मैनेजर रजनीकांत त्रिपाठी ने बताया कि तकनीकी खामियों के चलते बिलिंग में देरी हुई है। कर्मचारी लगे हुए हैं। जल्द ही बिल ग्राहकों को मिलेंगे। बिल लेट होने पर किसी पर अतिरिक्त चार्ज नहीं लगेगा।

सेटअप समझने में हुई देरी

शहरी क्षेत्र के अधीक्षण अभियंता एसबी पॉल ने बताया कि बिल्कुल सही बात है। बिल न मिलने की शिकायतें आ रही हैं। नई कंपनी ने काम शुरू किया है। सेटअप समझने में भी देर हुई है। जल्द सभी तक बिल पहुंच जाएंगे।