आने में देरी कर रहा मानसून, यहां तो 13 साल में सिर्फ 1 बार समय पर पहुंचा …..

0
0

अभी ज्यादा समय नहीं गुजरा है, जब खबर आयी थी कि इस बार मानसून सामान्य रहेगा।

फिर कुछ ही दिन बाद मौसम विभाग ने कहा कि इस बार मानसूनी बारिश कम हो सकती है।

स्काई मेट के बाद अब फिर मौसम विभाग ने इस बार दक्षिण-पश्चिम मानसून के 4-6 दिन देरी से पहुंचने की बात कही है।

जानकारी के लिए बता दें कि केरल में मानसून पहुंचने की तय तारीख 1 जून है और 29 जून तक यह राजधानी

दिल्ली पहुंच जाता है।

यह तो हुई तय तारीख की बात। अगर आपको भी यही लगता है कि मानसून इसी तरह से आगे बढ़ता है और देश

को तर-बतर करता है तो, आप गलत हैं। पिछले कई वर्षों से मानसून समय पर नहीं पहुंचता है।

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की ही बात करें तो पिछले 13 साल में सिर्फ एक बार ही मानसून तय समय पर पहुंचा है।

मौसम विज्ञानियों का मानना है कि इस दौरान मानसूनी हवाओं के आने में देरी और सूरज से बढ़ती तपिश के चलते

गर्मी परेशान करेगी।

हालांकि, पिछले कुछ दिनों से दिल्ली-एनसीआर में मौसम ने अचानक करवट ली है।

तेज हवा के साथ बारिश और ओले गिरने से तापमान में गिरावट देखने को मिली है।

यह राहत कितने दिन और रहेगी इसकी कोई गारंटी नहीं ले सकता।

देर-सबेर ही सही, सूरज की तपिश बढ़ेगी और लोगों का जीना मुहाल करेगी।

भोपाल की बात करें तो यहां मानसून पहुंचने का समय 13 जून है, लेकिन पिछले 13 वर्षों में सिर्फ एक बार

ही यह समय पर यहां पहुंचा है।

विज्ञानियों का कहना है कि मानसून में देरी के कारण 25 मई से 2 जून तक भीषण गर्मी पड़ेगी।