आप भी कीजिये रोचक इतिहास समेटे हुए भारत के इन मशहूर गुफाओं की सैर

0
9

भारत में चारों ओर फैली प्राकृतिक खूबसूरती, बीच और डेजर्ट के अलावा एडवेंचर के लिए गुफाएं घूमने का प्लान भी बहुत ही बेहतरीन आइडिया है। इंडिया में इतनी सारी खूबसूरत और रहस्यमयी गुफाएं हैं जहां की सैर बेशक आपके यादगार एक्सपीरियंस में से एक होगी। जानेंगे आज इन्हीं प्राचीन और अद्भुत कलाओं से परिपूर्ण गुफाओं के बारे में।

अंजता की गुफाएं

महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले के अजंता गांव में अजंता की गुफा देश की सबसे खूबसूरत और बड़ी गुफाओं में से एक है। इन गुफाओं की दीवारों पर पेंटिंग्स बनी हुई हैं, जो प्राचीन समय की कला का अद्भुत नमूना हैं। बौद्ध काल में बनी अजंता-एलोरा गुफाओं की कलाकृतियों को देखने दुनिया भर से टूरिस्ट्स आते हैं। कारला, भाजा और कन्हेरी महाराष्ट्र की दूसरी मशहूर गुफाओं में शामिल हैं।

एडाक्कल गुफा
केरल के वेयाड की अंबुकुथी हिल्स में दो प्राकृतिक गुफाएं हैं। एडाक्कल की ये दोनों गुफाएं पवित्र स्थलों के रूप में प्रसिद्ध हैं। एडाक्कल गुफा का मतलब होता है ‘पत्थरों के बीच’, जो प्राकृतिक सुंदरता को दर्शाता है।

बोरा गुफा

यह गुफा आंध्र प्रदेश के विशाखापट्ट्नम जिले में अराकू वैली की अनंतगिरी पहाड़ी में स्थित है। विशाखापट्टनम के बेस्ट टूरिस्ट प्लेसेज में यह गुफा शामिल है। इस गुफा में आपको शिवलिंग मिलेगा, जिसकी पूजा आस-पास के आदिवासी लोग करते हैं। आंध्र प्रदेश की बेलम और उंडावल्ली गुफाएं फेसम गुफाओं में से हैं।

बाघ गुफाएं
मध्य प्रदेश में विध्यांचल की दक्षि
णी ढलानों के बीच में बौद्ध रॉक कट गुफा स्थित है। यह गुफा फेमस नौ रॉक कट पहाड़ों में से एक है, जिन पर पेंटिंग्स बनायी गई हैं, जिसे ‘रंग महल’ और ‘प्लेस ऑफ कलर’ के नाम से जाना जाता है। गुफाओं के अंदर रहने के लिए कोठरी भी है जहां बौद्ध भिक्षु रहा करते थे। मध्य प्रदेश में इन गुफाओं के अलावा भीमबेटका और विदिशा में स्थित उदरयगिरी गुफाएं भी देखने लायक हैं।

माव्समाई गुफा

माव्समाई गुफा मेघालय के चेरापूंजी के पास स्थित है, जिसे दुनिया का सबसे नमी वाला स्थान माना जाता है। लाइमस्टोन से बना यह ख़ूबसूरत केव नौशन्तियांग झरने से ज़्यादा दूर नहीं है। माव्समाई केव इंडिया के मोस्ट पॉपुलर केव्स में एक है, जहां रोशनी भी है, जबकि दूसरे केव अंधेरे हैं।

बादामी गुफा
कर्नाटक के बादामी नगर में है बहुत ही खूबसूरत और नक्काशीदार बादामी गुफा। बादामी की चार गुफाओं में से दो गुफाएं भगवान विष्णु, एक भगवान शिव और एक जैन धर्म से संबंधित बताई जाती हैं। लाल पत्थर से बनायी गई ये गुफाएं अपनी सुंदरता के लिए जानी जाती हैं। पत्थरों में की गयी नक्काशी देखने लायक है। गुफा तक पहुंचने का रास्ता सीढ़ियों से होकर गुजरता है जो इसकी खूबसूरती को दोगुना करते हैं।

बारबर गुफाएं

बिहार के गया जिले में है बारबर गुफाएं। ये गुफाएं बाराबर की दो पहाड़ियों में हैं। यहां कुल चार गुफाएं हैं और नागार्जुन की पहाड़ियों में तीन गुफाएं हैं। जो भारत की सबसे पुरानी गुफाओं में से हैं। यहां की ज्यादातर गुफाएं को ग्रेनाइट से बनाया गया है। इनके अलावा, सुदामा और सोनभद्रा भी बिहार की प्रसिद्ध गुफाओं में से एक हैं।

वराह गुफाएं

तमिलनाडु में चेन्नई के कोरोमंडल के पास महाबलिपुरम् में यह गुफा स्थित है। वराह गुफा में भगवान विष्णु का मंदिर है। चट्टानों को काट कर की गई कलाकारी इतनी सुंदर है कि इसे यूनेस्को की विश्व विरासत का हिस्सा बनाया गया है। वराह गुफा पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है। इस गुफा के अलावा सित्तनवसल और नार्थमलाई गुफा भी काफी फेसम है।

जोगीमारा गुफा

छत्तीसगढ़ में आपको देखने के लिए घने जंगल, वन्य जीव, आदिवासी और प्राकृतिक सुंदरता मिलेगी। सीताबेग गुफा सरगुजा जिले के अंबिकापुर की रामगढ़ पहाड़ियों में स्थित है। दरअसल, ये दो गुफाएं हैं। क सीताबेंग और दूसरी जोगीमारा। यहां तक पंहुचने के लिए आपको प्राकृतिक टयूनल हतिपल के रास्ते से जाना होगा। छत्तीसगढ़ के पहाड़ी इलाकों और घने जंगल से होते हुए ही आप कैलाश गुफा, दंडक गुफा और कुटुमसर गुफा (जो कांगड़ वैली के नेशनल पार्क के पास है) तक पहुंच सकते हैं।