एक मच्छर के कारण आपकी आँखों की रोशनी भी जा सकती है बरतनी चाहिए आपको ये सावधानियां

0
16

आज तक आपने सुना होगा कि मच्छर के काटने से डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया और जपानी बुखार जैसे जानलेवा रोग फैलते हैं। पर अगर हम आपको कहे कि एक मच्छर इन बीमारियों के साथ आपकी आंखों की रोशनी तक छीन सकता है तो यकीनन आप हैरान हो जाएंगे। लेकिन ये बात सच है। आइए जानते हैं कहां और किसके साथ हुआ ये हादसा और कैसे इससे बचा जा सकता है।

एक अनोखे मामले में यह बात सामने आई जब एक मच्छर के काटने से एक महिला की आंखों की रोशनी चली गई।बताया जा रहा था कि महिला कई दिनों से बुखार से पीड़ित थी।हालांकि बाद में भारतीय मूल के एक डॉक्टर ने बताया कि एक 69 साल की महिला पहले चिकनगुनिया बुखार से पीड़ित हुई।जिसके बाद उसकी आंखों की रोशनी चली गई।

इस हादसे के बाद एक नई रिपोर्ट सामने आई जिसमें बताया गया कि मच्छर के काटने से फैले वायरस से महिला के आंखों की रोशनी गई।ब्रिटेन में डॉक्टर अभिजीत मोहिते ने बताया कि चिकनगुनिया के संक्रमण से यह मामला बिगड़ गया और महिला ने अपनी आंखों की रोशनी खो दी।

डॉक्टर मोहिते ने इस हादसे के बाद लोगों को हिदायत देते हुए कहा कि चिकनगुनिया जैसे मामलों में जल्द से जल्द लोगों को अपना इलाज करवा लेना चाहिए। कई बार देर से इलाज करवाने के चलते ऐसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।बताया जा रहा है कि जिस महिला की आंखों की रोशनी गई उसने जुलाई 2014 में कैरेबियन आइसलैंड ऑफ ग्रेनाडा की यात्रा की थी।

यात्रा के दौरान महिला को मच्छरों ने काट लिया था। इसके बाद उसकी तबियत खराब रहने लगी।महिला को कभी पैरों में दर्द होता तो कभी तेज बुखार हो जाता। इसके बाद अगस्त महीने में महिला ब्रिटेन अपने घर वापस लौटी।लेकिन महिला को अपनी दायीं आंख में समस्या होने लगी। डॉ. मोहिते ने बताया कि उस महिला को अपनी दायीं आंख से देखने में समस्या आने लगी जैसा कि उसने लोगों को बताया।

डॉक्टरों ने बताया कि वह सिर्फ एक बार उन्हें दिखाने आई थी और दिखाने के ठीक तीन हफ्ते बाद फिर वो ग्रेनाडा से वापस लौट गई थी। वहां से वापस लौटने के बाद जब उसके खून की जांच की गई तो पता चला कि वो चिकनगुनिया से पीड़ित है। हालांकि डॉक्टर तब तक यह नहीं पता लगा सके कि उसकी आंख की रोशनी जाने की क्या वजह है। डॉक्टर मोहिते ने बताया कि ब्रिटेन में किसी भी महिला के साथ ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था।