ऑस्ट्रेलियाई पत्रकारों से पूछताछ करना चाहती थी चीनी पुलिस, दोनों नाटकीय अंदाज में चीन से निकले …

0
0
austalia flag

ऑस्ट्रेलिया और चीन के रिश्ते लगातार खराब होते जा रहे हैं। चीन का हांगकांग में सुरक्षा कानून
लागू करना, कोरोना वायरस और कुछ अन्य मुद्दे हैं जिनको लेकर दोनों देशों के बीच तल्खी अपने
चरम पर है। इस बीच बीजिंग ऑस्ट्रेलियाई पत्रकारों को अपने निशाने पर ले रहा था।

चीन की पुलिस उनसे पूछताछ भी करना चाह रही थी। किसी तरह से इन पत्रकारों को भी इस बात
की भनक लग गई और सोमवार 7 सितंबर की रात को ये दोनों पत्रकार चीन से भागने में कामयाब
रहे। ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन (एबीसी) के मुताबिक जो दोनों पत्रकार चीन से भागे हैं
वो चीन में मान्यता प्राप्त अंतिम दो ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार थे।

पहले से ही ऑस्ट्रेलिया और चीन के बीच मौजूद तनाव को इस घटना ने दोनों देशों के रिश्ते को और
कमजोर किया है। पिछले दो साल में ऑस्ट्रेलिया और चीन के रिश्तों में गिरावट आई है। ऑस्ट्रेलियाई
पत्रकार बिल बरटल्स और माइकल स्मिथ (Australian journalists Bill Bartels and Michael
Smith) ने गोपनीय तरीके से ऑस्ट्रेलियाई राजनयिक मिशन में कई दिनों तक शरण ले रखी थी।

दोनों को चीन की पुलिस राष्ट्रीय सुरक्षा के आरोप में गिरफ्तार कर सकती थी। मंगलवार को ये दोनों
पत्रकार सिडनी पहुंच गए। यहां पहुंटचने पर बरटल्स ने राजनीतिक पैंतरेबाजी से भरे सप्ताह को याद
किया और कई चीजें बताई। बरटल्स सरकारी प्रसारक एबीसी के बीजिंग संवाददाता हैं। उन्होंने कहा
कि उस देश में वापस लौटना राहत भरा है जहां वास्तव में कानून का शासन है।