कपिल देव के नाम 9031 रन और 687 विकेट का रिकॉर्ड, आज तक नहीं तोड़ पाया कोई भारतीय

0
0
कपिल देव के नाम 9031 रन और 687 विकेट का रिकॉर्ड, आज तक नहीं तोड़ पाया कोई भारतीय

भारतीय क्रिकेट टीम के महानतम ऑलराउंडर में शुमार कपिल देव ने भारत को पहली बार विश्व चैंपियन बनाया। कपिल जैसा महान गेंदबाज और बल्लेबाजी धुरंधर आज तक भारतीय टीम में नहीं आया। 6 जनवरी 1959 को हरियाणा में जन्में कपिल ने शानदार कप्तानी के दम पर 1983 में विश्व कप खिताब दिलाया था। यह भारत का पहला विश्व कप खिताब था।

हरियाणा हरिकेन के नाम से मशहूर कपिल देव आज अपना 61वां जन्मदिन मना रहे हैं। कपिल का पूरा नाम कपिल देव निखंज है। 16 साल तक भारत के लिए क्रिकेट खेलने वाले कपिल के नाम टेस्ट और वनडे में मिलाकर 650 से ज्यादा विकेट हैं जबकि उन्होंने 9 हजार से ज्यादा रन भी बनाए हैं। कपिल भारत के एक मात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके नाम ऐसी उपलब्धि दर्ज है।

भारत को बनाया वर्ल्ड चैंपियन

साल 1983 में भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज जैसी ताकतवर टीम को हराकर पहली बार वर्ल्ड कप जीता था।
भारत ने दो बार की लगातार वर्ल्ड चैंपियन रही टीम को फाइनल में कपिल की शानदार कप्तानी और
बेहतरीन फील्डिंग के दम पर मात दी थी।

कपिल के नाम 687 विकेट और 9031 रन

वनडे और टेस्ट दोनों मिलाकर कपिल के नाम कुल 687 विकेट हैं जबकि 9031 रन भी उनके खाते में आते हैं।
उन्होंने 131 टेस्ट मैच खेलकर कुल 5248 रन बनाए हैं और 434 विकेट हासिल किए हैं।
वहीं वनडे की बात करें तो कपिल के नाम 225 मैचों में 3783 रन हैं और 253 विकेट भी चटकाए हैं।

भारत के विश्व विजेता कप्तान कपिल देव को दुनिया के महानतम ऑलराउंडर में गिना जाता है।
कपिल ने पाकिस्तान के खिलाफ 1 अक्टूबर 1978 में इंटरनेशनल डेब्यू किया था।
टेस्ट क्रिकेट में
कपिल देव के नाम सबसे ज्यादा 434 विकेट लेने का वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज था। कपिल ने
8 फरवरी 1994 में न्यूजीलैंड के रिचर्ड हैडली का रिकॉर्ड तोड़कर इसे अपने नाम किया था।
28 मार्च 2000 में वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज कोर्टनी वाल्श ने 435वां विकेट लेकर यह रिकॉर्ड
अपने नाम किया था।