कांग्रेस का महिला दिवस पर ‘महिला आरक्षण बिल’ को लेकर भाजपा पर हमला …

0
9

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस और भाजपा एक-दूसरे पर हमले करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे हैं।

कांग्रेस ने अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर भी भाजपा पर ‘महिला आरक्षण बिल’ के मुद्दे पर हमला बोला है।

मोदी सरकार पर कांग्रेस ने ‘महिला आरक्षण बिल’ पास न करने का आरोप लगाया है।

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस और भाजपा एक-दूसरे पर हमले करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे हैं।

कांग्रेस ने अंतरराष्‍ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर भी भाजपा पर ‘महिला आरक्षण बिल’ के मुद्दे पर हमला बोला है।

मोदी सरकार पर कांग्रेस ने ‘महिला आरक्षण बिल’ पास न करने का आरोप लगाया है।

मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कांग्रेस पार्टी ने ट्वीट किया, ‘सितंबर 2017 से जुलाई 2018 के बीच

यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर

विश्‍वास दिलाया कि ‘महिला आरक्षण बिल’ पास कराइए, हम आपको संसद में बिना किसी शर्त के समर्थन करेंगे।

अब हमने देश की जनता से वादा किया है कि सत्‍ता में आने के बाद ‘महिला आरक्षण बिल’ पास करेंगे।’

संसद और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण दिलाने के लिए विभिन्न महिला संगठन 23 साल

से लड़ाई लड़ रहे हैं। यह कोई नहीं कहता कि वे इस बिल के पक्ष में नहीं हैं। सभी आश्वासन देते हैं कि यह

बिल पास होना चाहिए, लेकिन राजनीतिक दल साथ में कोई न कोई बहाना भी लगा देते हैं। जैसे कोई कहता है

कि हमारे पास तो पूर्ण बहुमत नहीं है तो कोई दूसरा दल यह कह कर दूर हट जाता है कि सहयोगी पार्टियां

अभी इस पर एकमत नहीं हैं। भाजपा के पास पूर्ण बहुमत है और इस पार्टी ने 2014 में अपने चुनावी घोषणा

पत्र में कहा भी था कि वह महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण देगी।