कालाहांडी: नौकरी मांगने आए मजदूरों ने वेदांता के सुरक्षाकर्मी को जिंदा जलाया

0
3

ओडिशा के कालाहांडी जिले में स्थित वेंदाता लिमिटेड के एल्युमिनियम प्लांट के बाहर नौकरी की मांग

करने आए प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प हो गई. इसमें 2 लोगों की मौत हो गई.

जबकि 30 से ज्यादा प्रदर्शनकारी घायल हो गए.

बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने ओडिशा औद्योगिक सुरक्षा बल (ओआईएसएफ) के एक सुरक्षाकर्मी

को कमरे में बंद किया और बाहर से आग लगा दी. इससे सुरक्षाकर्मी की जिंदा जलने से मौत हो गई.

मृतकों की पहचान दानी बत्रा और सुजीत कुमार मिंज के तौर पर हुई है. मृतक दानी प्रदर्शनकर्ता थे जबकि

सुजीत कुमार मिंज ओआईएसएफ के जवान थे.  फिलहाल इलाके में हालात तनावपूर्ण होने के कारण धारा

144 लागू कर दी गई है.

नौकरी की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी…

लांजीगढ़ स्थित वेदांता कंपनी के प्लांट के बाहर प्रदर्शनकारी धरना दे रहे थे. उनकी मांग थी की वेदांता के

प्लांट शुरू होने की वजह से वो विस्थापित होंगे. इसलिए उन्हें संविदा पर नौकरी और बच्चों को पब्लिक

स्कूल में मुफ्त शिक्षा दी जाए.

प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि कंपनी प्रशासन से लोग बात करना चाह रहे थे, लेकिन पुलिस और

ओआईएसएफ के जवानों ने लाठीचार्ज किया. इससे हिंसा भड़क गई. इसमें दानी बत्रा नाम के एक

प्रदर्शनकारी की मौत हो गई और कई घायल हो गए.

सुरक्षाकर्मी को जिंदा जला दिया…

एसपी ने बताया कि प्रदर्शनकारी हटने को तैयार नहीं थे. इसलिए लाठीचार्ज किया गया.

इस बीच कुछ प्रदर्शनकारियों ने ने कम्युनिटी सेंटर में तोड़फोड़ की और आग लगा दी.

उन्होंने बताया कि भीड़ ने सुरक्षाकर्मी सुजीत कुमार मिंज को एक कमरे में बंद कर दिया और उसमें आग लगा दी.