कोविड-19 वैक्सीन के लिए कम न पड़े सीरिंज, प्रोडक्शन में तेजी …

0
0
carona

एक ओर जहां कोविड-19 वैक्सीन के लिए दुनिया के तमाम देशों में रिसर्च हो रहे हैं वहीं दूसरी
ओर भारत सीरिंज निर्माता ने अपने उत्पादन प्रक्रिया तेज कर दी है ताकि वैक्सीन के व्यापक डिमांड
में कमी  न हो। महामारी से निजात पाने की प्रक्रिया में वैक्सीन का विकास अहम है और इसे देखते
हुए विशेषज्ञों ने कहा है कि वैक्सीन के लिए आवश्यक उपकरण भी उतने ही महत्वपूर्ण हैं।

दुनिया में सीरिंज बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी हिंदुस्तान सीरिंज (Hindustan Syringes)  ने
कहा है कि यह अपने आउटपुट बढ़ा रही है। इसके पहले जो एक साल में 700 मिलियन का
प्रोडक्शन होता था व 2021 तक एक बिलियन करने का प्रयास है ताकि कोविड-19 के लिए
आने वाले वैक्सीन के डिमांड के अनुरूप हो सके।

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के एक्सपर्ट प्रशांत यादव ने कहा, ‘वैक्सीन की पहली खेप के लिए हमारे
पास पर्याप्त उपकरण व अन्य सुविधाएं हैं। लेकिन 2021 के अंत या 2022 की शुरुआत में जब
हम बड़े स्तर पर  वैक्सीन का निर्माण करने में सफल होंगे तब सीरिंज सप्लाई में कमी की संभावना
है।’ अब तक  UNICEF ने COVAX के लिए हिंदुस्तान को 140 मिलियन सीरिंज का ऑर्डर दिया
है।  गरीब देशों को समान रूप से वैक्सीन मिल सके इसके लिए UNICEF ने वैश्विक पहल की है।
सीरिंज की दुनिया भर में जो डिमांड है वह चीन और भारत की फैक्ट्री से पूरी हो सकेगी।