गौतम गंभीर ने दिल्ली की कप्तानी छोड़ी

0
4

गौतम गंभीर को सत्र के शुरू में दिल्ली का कप्तान नियुक्त किया गया था. उनकी अगुवाई में टीम ने विजय हजारे फाइनल में जगह बनाई और बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने स्वयं लगभग 500 रन बनाये. पता चला है कि 37 वर्षीय गंभीर ने इसलिए आगे कप्तान पद पर नहीं बने रहने का फैसला किया क्योंकि यह स्पष्ट नहीं है कि वह इस सत्र में सभी प्रथम श्रेणी मैचों में खेलेंगे या नहीं.

नई दिल्ली:

प्रारंभिक बल्‍लेबाज गौतम गंभीर ने दिल्ली की रणजी टीम का कप्तानी छोड़ दी है, उनके स्थान पर युवा बल्‍लेबाज नीतीश राणा को नेतृत्‍व की जिम्मेदारी सौंपी गई है. गौतम गंभीर ने कप्‍तानी छोड़ने की जानकारी एक ट्वीट के जरिये दी. उन्‍होंने लिखा, ‘अब किसी युवा को कप्तानी सौंपने का वक्त आ गया है और इसलिए डीडीसीए चयनकर्ताओं से आग्रह किया है कि वे इस भूमिका के लिये मेरे नाम पर विचार नहीं करें. मैं मैच जीतने के लिये पीछे से नये कप्तान की मदद करूंगा.’24 वर्षीय राणा मध्यक्रम के बल्लेबाज हैं जिन्होंने अब तक 24 प्रथम श्रेणी मैचों में 46.29 की औसत से रन बनाए हैं.

ध्रुव शोरी को दिल्‍ली की टीम का उप कप्तान नियुक्त किया गया है. शीर्ष क्रम के बल्लेबाज ध्रुव ने अब तक 21 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं. दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, ‘‘गौतम ने राज्य टीम के मुख्य चयनकर्ता अमित भंडारी को बताया कि वह कप्तानी छोड़ना चाहते हैं. उन्होंने किसी युवा खिलाड़ी को यह जिम्मेदारी सौंपने के लिये कहा. नितीश राणा टीम की अगुवाई करेंगे जबकि ध्रुव शोरे उनके साथ उप कप्तान होंगे.” दिल्ली की टीम अपना पहला मैच 12 नवंबर से फिरोजशाह कोटला में खेलेगी.

गंभीर को सत्र के शुरू में दिल्ली का कप्तान नियुक्त किया गया था. उनकी अगुवाई में टीम ने विजय हजारे फाइनल में जगह बनायी और बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने स्वयं लगभग 500 रन बनाये. पता चला है कि 37 वर्षीय गंभीर ने इसलिए आगे कप्तान पद पर नहीं बने रहने का फैसला किया क्योंकि यह स्पष्ट नहीं है कि वह इस सत्र में सभी प्रथम श्रेणी मैचों में खेलेंगे या नहीं. गंभीर का कप्तान पद छोड़ने का फैसला इस बात का भी संकेत है कि वह लंबे समय प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में नहीं खेलेंगे. लेकिन शिखर धवन और ऋषभ पंत की अनुपस्थिति में दिल्ली को गंभीर की जरूरत पड़ेगी. (इनपुट: PTI)