चीन ने अपने नागरिकों के ताइवान जाने पर लगाई रोक, जानें दोनों देशों के बीच क्यों बिगड़े संबंध

0
0
चीन

चीन ने ताइवान पर दबाव बढ़ाते हुए अपने नागरिकों के इस स्वशासित द्वीपीय क्षेत्र की यात्रा करने पर रोक लगा दी है। चीन ने कहा है कि वह गुरुवार से ताइवान दौरे के लिए व्यक्तिगत यात्रा परमिट जारी नहीं करेगा। चीन के इस कदम से ताइवान की अर्थव्यवस्था को नुकसान हो सकता है।

चीन के पर्यटन मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि ताइवान के साथ संबंधों में आए मौजूदा तनाव के चलते गुरुवार से व्यक्तिगत यात्रा परमिट जारी नहीं किए जाएंगे। चीनी नागरिकों को ताइवान जाने के लिए सरकार से अनुमति लेने की जरूरत पड़ती है। इसके लिए एक कार्यक्रम के तहत चीनी नागरिक ताइवान के 47 शहरों में यात्रा परमिट पाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। लेकिन अब इस पर रोक लगा दी गई है।

इस कारण बिगड़े संबंध
चीन के ताइवान के साथ संबंध साल 2016 में तब बिगड़ गए जब राष्ट्रपति साई इंग-वेन सत्ता में आई। उनकी पार्टी ने ताइवान को चीन के हिस्से के तौर पर मान्यता देने से इन्कार कर दिया था।

बड़ी संख्या में ताइवान जाते हैं चीनी
हर साल बड़ी संख्या में चीनी नागरिक ताइवान की यात्रा करते हैं। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, इस साल की पहले छमाही में 17 लाख से ज्यादा चीनी नागरिकों ने ताइवान की यात्रा की थी। पिछले साल 27 लाख चीनी पर्यटक ताइवान पहुंचे थे।