चेन्नई की पिच से धोनी नाखुश, बोले- इस तरह की विकेट पर नहीं खेलना चाहते

0
2

धोनी ने कहा, मुझे नहीं लगता कि हम इस तरह के विकेट पर खेलना चाहते हैं. इस पर बहुत कम स्कोर बन रहा है. इससे हमारे बल्लेबाजों के लिए भी थोड़ी परेशानी हो रही है

चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने घरेलू मैदान पर अब तक अपने सभी चारों मैच जीतने के बावजूद चेपॉक की पिच की आलोचना की जिस पर अधिक स्कोर नहीं बन पा रहा है. मौजूदा चैंपियन चेन्नई ने मंगलवार को कोलकाता नाइट राइडर्स को कम स्कोर वाले मैच में सात विकेट से शिकस्त दी. यह उसकी अपने घरेलू मैदान पर पिछले छह मैचों में पांचवीं और लगातार चौथी जीत है.

केकेआर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए नौ विकेट पर 108 रन बनाए. चेन्नई ने 17.2 ओवर में लक्ष्य हासिल किया. धोनी ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि हम इस तरह के विकेट पर खेलना चाहते हैं. इस पर बहुत कम स्कोर बन रहा है. इससे हमारे बल्लेबाजों के लिए भी थोड़ी परेशानी हो रही है. ड्वेन ब्रावो के चोटिल होने के कारण हमारे लिए सही संयोजन तैयार करने में थोड़ी परेशानी हो रही है.’

धोनी ने इसके साथ ही अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह और इमरान ताहिर की भी तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘भज्जी जिस मैच में भी खेला उसने अच्छा प्रदर्शन किया. मैंने ताहिर को आजमाया और उसने अपनी भूमिका अच्छी तरह से निभाई. मुझे उस पर भरोसा है. वह बहुत अच्छी फ्लिपर करता है. वह (ताहिर) ऐसा गेंदबाज है अगर उसे आप कहो कि इस तेजी से गेंद करनी है तो वह हर बार ऐसा करेगा.’

 

आपको बता दें कि दीपक चाहर की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन से

चेन्नई सुपर किंग्स ने कोलकाता नाइट राइडर्स को सात विकेट से हराकर

अंक तालिका के शीर्ष पर जगह बनाई.

चाहर (20 रन पर तीन विकेट), हरभजन सिंह (15 रन पर दो विकेट),

इमरान ताहिर (21 रन पर दो विकेट) और रवींद्र जडेजा

(17 रन पर एक विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने नाइट राइडर्स की टीम नौ

विकेट पर 108 रन ही बना सकी जो मौजूदा सत्र का तीसरा न्यूनतम स्कोर है.

सुपरकिंग्स ने इसके जवाब में सलामी बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस (नाबाद 43)

और अंबति रायडू (21) के बीच तीसरे विकेट की 46 रन की

साझेदारी की बदौलत 17.2 ओवर में तीन विकेट पर 111 रन बनाकर जीत दर्ज की.

डु प्लेसिस ने 45 गेंद की अपनी पारी में तीन चौके मारे. केदार जाधव आठ रन बनाकर नाबाद रहे.

द्रे रसेल केकेआर के शीर्ष स्कोरर रहे जिन्होंने जीवनदान का फायदा उठाते हुए 44

गेंद में पांच चौकों और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 50 रन की पारी खेली.

उनके अलावा टीम का कोई बल्लेबाज 20 रन के आंकड़े को भी नहीं छू पाया.

 

एमए चिदंबरम स्टेडियम की पिच पर केकेआर के बल्लेबाजों को काफी परेशानी का

सामना करना पड़ा क्योंकि गेंद बल्ले पर नहीं आ रही थी.

नाइट राइडर्स के बल्लेबाजों ने हालांकि गैर जिम्मेदाराना शॉट भी

खेले जिससे टीम ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए.

इस जीत से सुपरकिंग्स की टीम छह मैचों में पांच जीत से 10 अंक के साथ शीर्ष पर पहुंच गई है.

नाइट राइडर्स की छह मैचों में यह दूसरी हार है और टीम आठ अंक के साथ दूसरे स्थान पर है.