जूते के फीते से छोटे भाई की हत्या, राज खुला तो पुलिस-परिवार सन्न!

0
23

दिल्ली पुलिस ने आनंद पर्वत इलाके में एक व्यक्ति की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की गुत्थी सुलझा ली है. पुलिस के मुताबिक, संदिग्ध मौत का यह मामला हत्या का केस निकला और पुलिस के लिए सबूत बना जूते का फीता. हैरान करने वाली बात तो यह है कि हत्या की इस वारदात को मृतक के बड़े भाई ने ही अंजाम दिया.

दिल्ली पुलिस के लिए यह पहला मामला होगा, जब वह कोर्ट में हत्या के हथियार के तौर पर मात्र जूते का फीता पेश करेगी. पुलिस ने हत्या करने वाले बड़े भाई के जूते का फीता बरामद कर लिया है. यह बरामद फीता ही आरोपी की सजा का सबूत बनेगा.

पुलिस ने बताया कि व्यक्ति की संदिग्ध मौत की सूचना उन्हें एक अस्पताल से मिली. आनंद पर्वत के बलजीत नगर में रहने वाले सत्यदेव को उसके परिजन मृत अवस्था में हॉस्पिटल ले गए थे. डॉक्टरों को जब संदेह हुआ तो उन्होंने पुलिस को सूचित कर दिया.

अगले दिन आरएमएल हॉस्पिटल में जब मृतक का पोस्टमार्टम हुआ तो पता चला कि किसी पतले धागे से गला दबाकर उसकी हत्या की गई थी. पुलिस ने परिजनों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो उन्होंने बताया कि सत्यदेव नशा करता था और अत्यधिक नशा करने के चलते उसकी मौत हुई.

लेकिन मृतक सत्यदेव की पत्नी ने जो बताया, उसने पुलिस के संदेह की सुई सत्यदेव के बड़े भाई 34 वर्षीय शिशुपाल की ओर मोड़ दी. सख्ती से पूछताछ करने के बाद आखिरकार शिशुपाल ने कुबूल कर लिया कि उसने ही अपने छोटे भाई की हत्या की.

शिशुपाल ने बताया कि छोटा भाई नशे और शराब का लती था और नशे में आए दिन घर में झगड़ा करता रहता था. घटना वाले दिन भी सत्यदेव शराब पीकर घर आया और झगड़ा करने लगा. छोटे भाई की नशे की लत और आए दिन चिक-चिक से तंग आकर बड़े भाई ने अपने जूते का फीता खोला और पीछे से गले में फंदा कस दिया, जिससे सत्यदेव की मौत हो गई.