झीरम कांड की बरसी: जानिए देश के दूसरे सबसे बड़े माओवादी हमले की पूरी कहानी ….

0
0

झीरम हमले को शनिवार को छह साल पूरे हो गए हैं। इस हादसे ने सबको झकझोर कर रख दिया था।

25 मई 2013 की शाम को हुए इस हमले में 32 लोग अपनी जान गंवा बैठे थे।

यह देश का दूसरा सबसे बड़ा माओवादी हमला है।

यह हमला बस्तर जिले के दरभा इलाके के झीरम घाटी में कांग्रेस के परिवर्तन यात्रा पर हुआ था।

इस हमले को कांग्रेस ने सुपारी किलिंग करार दिया था।

कांग्रेस कार्यालय में आज इस हमले में मारे गए कांग्रेसियों कों श्रद्धांजलि दी गई।

आइए जानते हैं इस भयावह हमले की पूरी कहानी-

25 मई 2013, करीब 5 बजे का समय था। भीषण गर्मी के बीच लोग अपने घरों और कार्यालयों में पंखे-कूलर की हवा

के नीचे बैठे थे। इसी बीच अचानक टीवी पर एक खबर आई।

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के झीरम घाटी में करीब डेढ़ घंटे पहले एक माओवादी हमला हुआ था।

यूं तो यहां आज भी रोजाना माओवादी हिंसा होती है, लेकिन यह घटना उन घटनाओं से कहीं अधिक खौफनाक और भीषण थी।

प्रारंभिक खबर आने के करीब 15 मिनट बाद अपडेट खबर आई।

इस खबर में बताया गया कि माओवादी हमले में बस्तर टाइगर के नाम से मशहूर कांग्रेसी नेता महेन्द्र कर्मा और नंद कुमार

पटेल सहित कई लोग मारे गए हैं। विद्याचरण शुक्ल की हालत गंभीर है।

इसके बाद धीरे-धीरे खबर का दायरा बढ़ने लगा।

रात करीब 10 बजे जब यह जानकारी आई कि हमले में कुल 32 लोग मारे गए हैं, तो लोगों को इस खबर पर भरोसा

कर पाना मुश्किल हो रहा था।

एक-एक कर घटना में मारे गए लोगों के नाम सामने आने लगे।

इनमें वे नाम थे जो उस वक्त छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के पहली कतार के नेता थे।

यह देश के इतिहास का दूसरा सबसे बड़ा नक्सल हमला था।

आज इस हमले की छठवीं बरसी मनाई जा रही है।

घटना को भले ही 6 साल हो गए, लेकिन इसके जख्म आज भी पूरी तरह ताजा हैं।

नवंबर 2013 में राज्य में विधानसभा चुनाव होने थे। आपसी अंतरकलह से उबर कर एकजुटता दिखाते हुए कांग्रेस राज्य

में परिवर्तन यात्रा निकाल रही थी। इस यात्रा में तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता शामिल थे।

अलग-अलग इलाकों से होते हुए कांग्रेस की यह यात्रा नक्सलियों के गढ़ से गुजर रही थी।

25 मई को प्रदेश कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष नंदकुमार पटेल, उनके बेटे दिनेश पटेल, दिग्गज कांग्रेसी विद्याचरण,

शुक्ल, बस्तर टाइगर महेंद्र कर्मा और बहुत सारे नेताओं के साथ यात्रा पर थे।