ठाकोर समाज के नेता ने कहा- अंतर जातीय विवाह करने वाली लड़कियों को मार दें, हुआ बवाल …

0
10

गुजरात में अंतर जातीय विवाह करने वाले दलित युवक की हत्‍या के आरोपी फरार हैं। उधर, ठाकोर समाज के एक नेता ने सोशल मीडिया पर अंतर जातीय विवाह करने वाली युवती को दूध पीती अर्थात मौत के घाट उतारने की सलाह देकर विवाद छेड़ दिया है। महिला आयोग ने इस नेता को तलब किया है।

ठाकोर एकता समिति के अध्‍यक्ष नवघणजी ठाकोर ने फेसबुक पेज पर लिखा है कि ठाकोर समाज की युव‍ती दूसरे समाज के युवक से विवाह करती है, तो अपने समाज की पुरानी प्रथा बच्‍ची को दूध पीती को अमल में लाना चाहिए। अर्थात ऐसी युवती को मौत के घाट उतार देना चाहिए। समाज के इस नेता का दावा है कि वे समाज की एकता के लिए काम करते हैं तथा उनके फेसबुक पेज पर किसी लड़के ने यह बात पोस्‍ट की है।

समाज के लोगों की ओर से बताए जाने पर उसे हटा ली है। रॉयल ठाकोर सेना के प्रमुख रमेशजी ठाकोर ने नवघणजी पर तालिबानी मानसिकता का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे लोग समाज व महिलाओं को गलत दिशा में ले जा रहे हैं। उनका कहना है कि नवघणजी, हाल ही राज्‍यसभा के सदस्‍य निर्वाचित हुए जुगलजी ठाकोर की संस्‍था से जुडे़ हुए हैं इसलिए उनके इस बयान को लेकर उन पर भी छींटे आएंगे।

गुजरात महिला आयोग ने ठाकोर समाज के इस नेता के बयान को गंभीरता से लिया है तथा उन्‍हें आयोग केसमक्ष रु-ब-रु हाजिर होकर जवाब पेश करने का निर्देश दिया है। उधर, कांग्रेस विधायक गेनीबेन ठाकोर ने कहा है कि युवती को दूध पीती करने की बात निंदनीय है। हर समाज में लड़कियों की कमी हो रही है इसलिए कई लोग अंतरजातीय विवाह करना पसंद करते हैं। समाज में लड़कियों को शिक्षित किया जाना चाहिए, ताकि वह ऐसा नहीं करें।