थाना सिरौली के गांव केसरपुर में देर रात करीब तीन बजे घर में सो रहे अधेड़ की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

0
32

बरेली(जेएनएन)। थाना सिरौली के गांव केसरपुर में देर रात करीब तीन बजे घर में सो रहे अधेड़ की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वहीं, पत्‍नी समेत अन्‍य परिवार वाले सुबह तक उसकी लाश के साथ घर में सोते रहे।सुबह नींद खुलने पर पत्नी ने चारपाई के नीचे पति का खून से लथपथ शव देखा, तब परिजनों को घटना के बारे में पता चल सका। सूचना पर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और सीने में गोली मारने से मौत होने की जानकारी दी।इसके बाद एसएसपी मुनिराज जी, एसपी देहात सतीश कुमार समेत डॉग स्‍क्‍वॉड मौके पर पहुंच गए। फॉरेंसिक टीम ने घटनास्‍थल से ब्‍लड समेत अन्‍य चीजों के सैंपल जुटाए। घटना के पीछे जमीनी विवाद को वजह बताया जा रहा है। फिलहाल पुलिस शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजने के बाद मामले की पड़ताल में जुटी हुई है।

सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह के गृह क्षेत्र सिरौली के केसरपुर गांव निवासी राम देव शर्मा (45) पुत्र मदन लाल बुधवार रात अपने घर में सो रहे थे। देर रात करीब तीन बजे चारपाई पर सोते वक्‍त किसी ने उन्‍हें गोली मार दी। इससे उनकी मौत हो गई। उनके पास में उनकी पत्‍नी भी सो रही थी, लेकिन उनको घटना की भनक नहीं लग सकी। सुबह सोकर उठने पर उनकी पत्‍नी ने चारपाई के नीचे खून से लथपथ शव देखा तो उनकी चीख निकल गई। आवाज सुनकर परिजन मौके पहुंचे और पुलिस को इसकी सूचना दी। थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर गोली मारने से हत्‍या की बात कही तो परिजनों ने गोली की आवाज सुनने से इन्‍कार कर दिया। इस पर डॉग स्‍क्‍वॉड और फॉरेंसिक टीम को मौके पर बुलाया गया। एसएसपी मुनिराज जी और एसपी देहात सतीश कुमार भी घटनास्‍थल पर पहुंच गए। पुलिस ने शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मृतक रामदेव शर्मा शराब व स्मैक का शौकीन था। नशे की लत के कारण वह अपनी काफी जमीन बेच चुका था। पहले उसके पास करीब 90 बीघा जमीन हुआ करती थी, मगर स्‍मैक और शराब के मंहगे शौक पूरा करने के चक्‍कर में अब महज 13 बीघा जमीन ही बची है। वही, उसकी हत्‍या के पीछे भी जमीन संबंधी विवाद को वजह बताया जा रहा है।

हत्‍या के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने परिवार वालों से पूछताछ की, लेकिन परिवार वाले कुछ भी बता नहीं रहे हैें। पुलिस ने गोली चलने की आवाज सुनाई न देने के बाबत पूछा तो परिवार वालाें ने बताया कि घटना के वक्‍त गांव में देवी जागरण हो रहा था। इस वजह से किसी ने गोली की आवाज नहीं सुनीं। फिलहाल परिजन खमाेश हैं और किसी भी व्‍यक्‍ति से रंजिश होने से इन्‍कार कर रहे हैं।