दिल्ली के कंझावला रोड पर पिछले महीने एक बैंक के बाहर हुई 29 लाख रुपये की लूट के मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है. पुलिस ने इस मामले में शामिल 3 आरोपियों को दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके से दबोच लिया. इन आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि इस लूट की साजिश दिल्ली से दूर पंजाब के फरीदकोट जेल में रची गई थी. पुलिस के मुताबिक 24 दिसबंर को एक व्यापारी दिल्ली के कंझावला रोड पर बैंक में 29 लाख रुपये कैश जमा कराने गया था, दोपहर का वक्त था और बैंक के बाहर काफी लोग मौजूद थे, तभी बाइक पर सवार बदमाश पहुंचे और उन्होंने व्यापारी पर पिस्टल तान दी और रुपयों से भरा बैग छीनकर फरार हो गए. दिनदहाड़े हुई इस लूट के बाद पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए एक टीम बनाई. इसके बाद पुलिस टीम ने इलाके में मुखबिरों से जानकारी जुटाने में लग गए. इस बीच 10 जनवरी को पुलिस को जानकारी हाथ लगी कि लूट में शामिल कुछ बदमाश सुल्तानपुरी इलाके में हो सकते हैं. इस बीच पुलिस की टीम को पता लगा कि एक संदिग्ध स्कार्पियो गाड़ी अमन विहार की तरफ जा रही है. पुलिस टीम ने फौरन रास्ते में बैरिकेड लगा दिया और स्कार्पियो गाड़ी में सवार 3 बदमाशों को हिरासत में ले लिया. गिरफ्तार तीनों आरोपियों के नाम काला, कमल और केशव हैं. पुलिस की पूछताछ में इन तीनों ने अपना जुर्म कबूल लिया. इन तीनों युवकों ने पुलिस को बताया कि सभी फरीदकोट की जेल में बंद शातिर बदमाश संपत के लिए काम करते हैं, और लूट की इस साजिश को भी जेल में रचा गया था. पुलिस ने बदमाशों के पास से एक स्कार्पियो, एक क्रेटा और चोरी की एक बाइक बरामद की है.

0
0

Delhi के कंझावला रोड पर पिछले महीने एक बैंक के बाहर हुई 29 लाख

रुपये की लूट के मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है. पुलिस ने इस मामले में शामिल तीन

आरोपियों को दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके से दबोच लिया. इन आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ

कि इस लूट की साजिश दिल्ली से दूर पंजाब के फरीदकोट जेल में रची गई थी.

लिस के मुताबिक 24 दिसबंर को एक व्यापारी दिल्ली के कंझावला रोड पर बैंक में 29 लाख रुपये कैश जमा कराने गया था, दोपहर का वक्त था और बैंक के बाहर काफी लोग मौजूद थे,

तभी बाइक पर सवार बदमाश पहुंचे और उन्होंने व्यापारी पर पिस्टल तान दी और रुपयों से भरा बैग छीनकर फरार हो गए. दिनदहाड़े हुई इस लूट के बाद पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए एक टीम बनाई.

इस बीच पुलिस की टीम को पता लगा कि एक संदिग्ध स्कार्पियो गाड़ी अमन विहार की तरफ जा रही है. पुलिस टीम ने फौरन रास्ते में बैरिकेड लगा दिया और स्कार्पियो गाड़ी में सवार 3 बदमाशों को हिरासत में ले लिया.

गिरफ्तार तीनों आरोपियों के नाम काला, कमल और केशव हैं. पुलिस की पूछताछ में इन तीनों ने अपना जुर्म कबूल लिया.

इन तीनों युवकों ने पुलिस को बताया कि सभी फरीदकोट की जेल में बंद शातिर बदमाश संपत के लिए काम करते हैं, और लूट की इस साजिश को भी जेल में रचा गया था. पुलिस ने बदमाशों के पास से एक स्कार्पियो,

एक क्रेटा और चोरी की एक बाइक बरामद की है.

लेकिव वापस नहीं गया, जबकि असदुल्ला ने बताया कि वो पहले एक बड़े गैंग के लिए कुरियर का काम करता था और पेट में कैप्सूल में ड्रग भरकर लाया करता था लेकिन बाद में उसने अपना गैंग बना लिया.