दिल्ली: महिला आयोग ने घरेलू हिंसा की शिकार नाबालिग बच्ची को छुड़ाया

0
0

दिल्ली महिला आयोग ने बिहार की एक नाबालिग लड़की को दिल्ली के द्वारका

मोड़ स्थित एक सॉफ्टवेयर  इंजीनियर के घर से छुड़ाया है. लड़की से घरेलू नौकरानी

के रूप में काम करवाया जाता था.

दरअसल, दिल्ली महिला आयोग की 181 महिला हेल्पलाइन पर एक महिला ने शिकायत

दर्ज करवाई कि उसके पड़ोस से रोजाना किसी बच्ची के चीखने की आवाज आती है,

एक दिन वह किसी तरह उस बच्ची से बात करने में सफल हुई.

बच्ची ने उसे बताया कि उससे उस घर में जबर्दस्ती घरेलू काम करवाया जाता है

एक दिन वह किसी तरह उस बच्ची से बात करने में सफल हुई.

शिकायत मिलने पर दिल्ली महिला आयोग ने तुरंत एक टीम बनाई और उसको द्वारका

मोड़ स्थित दिए गए पते पर भेजा.

वहां पहुंच कर आयोग की टीम ने बच्ची से बात की. उसकी उम्र केवल 10-11 साल है,

और वह यहां पिछले 5-6 महीने से काम कर रही थी.

बच्ची ने बताया कि उसकी मालिकन रोज उसे पीटती थी और घर का सारा काम उससे करवाती थी.

उससे ने यह भी बताया कि उसे ना तो उसके माता पिता से बात करने दी जाती थी

और ना ही उसे ठीक से खाना दिया जाता था.

अपनी बात बताते हुए बच्ची रोने लगी और उसे वहां से ले जाने की बात कही.

महिला आयोग की टीम ने बच्ची को ले जाने की कोशिश की तो उसके

मालिक ने हंगामा करना शुरू कर दिया.

आयोग की टीम ने फिर दिल्ली पुलिस को सूचना दी और पुलिस मौके पर पहुंची.

पुलिस की मदद से बच्ची को वहां से छुड़ाया गया.

बच्ची को वहां से उत्तम नगर पुलिस थाने लाया गया जहां बच्ची के बयान के आधार

 पर जेजे एक्ट के अंतर्गत मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया.

बच्ची को चिकित्सीय परीक्षण के लिए अस्पताल ले जाया गया.