क्या दुनिया से खत्म हो जायेगा सोना ?

0
55

भारतीय महिलाओं को इस खबर से झटका लग सकता है। मगर खनन या माइनिंग क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है सोने के खनन के लिए नई जगहों की खोज नहीं होने के कारण ऐसा दिन भी आ सकता है।

गोल्डकॉर्प के चेयरमैन इयान टेलफर का कहना है कि सोने का खनन चरम पर पहुंच चुकी है। ऐसा होने का मतलब है कि दुनिया में जो भंडार था उससे सप्लाई अब गिरावट का रुख करेगी। टेलफर ने अनुमान जताया कि 2019 तक पीक गोल्ड पर पहुंच जाएंगे। यह वो स्तर है जिसके बाद सोने के भंडार में गिरावट आने लगेगी।

सोने की खनन इंडस्ट्री से जुड़े विशेषज्ञों का कहना है कि पीक गोल्ड वह स्तर है, जिसके बाद सोने की सप्लाई गिरने लगेगी। उनका कहना है कि यह स्तर बहुत जल्दी आने वाला है। वैज्ञानिकों का कहना है कि 2019 तक सोने के ज्ञात स्रोत से खनन अब अपने चरम पर पहुंचने वाला है। नए भंडार की खोज नहीं होने की वजह से दुनिया में सोने की सप्लाई में कमी आएगी।
इयान टेलफर का कहना है कि पिछले 40 साल में सोने का उत्पादन बढ़ता रहा है। मगर अब यह बहुत जल्द गिरावट का रुख करने वाला। देखना यह होगा कि ऐसा इस साल होगा या अगले साल या यह शुरू हो चुका है।