नाना पाटेकर को क्लीन चिट: तनुश्री दत्ता ने कहा- कानून पर भरोसा बेकार, इससे फायदा नहीं होता

0
0

बॉलीवुड एक्टर नाना पाटेकर को तनुश्री दत्ता केस में पुलिस से क्लीन चिट मिल गई है.

तनुश्री ने एक पुराने मामले को लेकर इंटरव्यू में नाना पाटेकर के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगाया था

. इस मामले में पुलिस ‘बी समरी’ रिपोर्ट जारी की है, जिसमें कहा गया कि नाना पाटेकर के खिलाफ कोई सबूत

नहीं मिले हैं. अब नाना को पुलिस से क्लीन चिट मिलने के बाद तनुश्री का कहना है, अगर आपको शोषण करने

वाले लोगों को सजा देनी है तो उनका नाम सोशल मीडिया पर उछालना अच्छा है.

क्योंकि FIR दर्ज करवाने से कुछ नहीं होता.

टाइम्स नाउ से एक बातचीत में तनुश्री ने कहा, “ये मूवमेंट, ये सामने आकर अपने शोषणकर्ता के बारे में बात

करना और उसे शर्मिंदा करने का आइडिया कानून के एक्शन लेने की बात पर निर्भर नहीं करता.

क्योंकि मेरा हिस्सा इस बात का सबूत है कि जब आप FIR दर्ज करवाते हो तो क्या होता है.?”

तनुश्री ने ये भी कहा कि #MeToo की वजह से उन्होंने जिंदगी का सबसे बड़ा सबक सीखा है.

एक्ट्रेस ने कहा, “कानून पर भरोसा करना बेकार है, उससे किसी का फायदा नहीं होता.

अब ये बात हर उस इंसान के लिए सबूत होनी चाहिए, जो एक महिला से पूछता है कि उसने पुलिस में शिकायत

क्यों नहीं दर्ज करवाई.

यही उन लोगों का मुंह बंद करवाने के लिए काफी है.”

तनुश्री ने अपने आपको इस मामले में झूठा बताए जाने के लिए कहा, “मैं आज भी इस बात से हैरान होती हूं कि

एक आदमी को दशकों से उसके बुरे व्यवहार के लिए कहा जा रहा है और जब एक औरत ने आकर पब्लिक में

उसका नाम उछाला तो लोगों ने औरत को झूठा कहना शुरू कर दिया.

ये हमारे देश की पुरानी कहानी है… कोई भी औरत जो शोषण के बारे में बात करती है झूठी कहलाती है.”

क्या है पूरा मामला

तनुश्री दत्ता ने कहा था कि 2008 में आई फिल्म “हॉर्न ओके प्लीज” के सेट पर शूटिंग के दौरान नाना पाटेकर ने

उनके साथ छेड़छाड़ की थी

. हालांकि उस समय तनुश्री ने आवाज उठाई, लेकिन तब उनकी बात पर लोगों ने ध्यान नहीं दिया. इसलिए

पिछले साल तनुश्री दत्ता ने एक बार फिर इस घटना के बारे में बात की.

आरोपों के बाद में नाना पाटेकर को फिल्म हाउसफुल 4 से बाहर कर दिया गया था.

तनुश्री के आरोपों के बॉलीवुड में मीटू अभियान चला और कई महिलाओं ने अलग अलग सेलिब्रिटीज पर आरोप लगाए.