पश्चिमी एक्सप्रेस राजमार्ग के किनारे बनी 5100 आवासीय इकाइयों को नहीं मिले ग्राहक

0
3

इन इकाइयों को पिछले 12 महीने के दौरान शुरू किया गया.

प्रतीकात्मक फोटो.

मुंबई:  मुंबई के पश्चिमी एक्सप्रेस राजमार्ग के इर्द-गिर्द 10 हजार करोड़ रुपये से अधिक लागत की 5,100 आवासीय इकाइयां ग्राहक नहीं मिलने से बिना बिक्री के पड़ी हैं. इन इकाइयों को पिछले 12 महीने के दौरान शुरू किया गया.

एक समय पश्चिमी एक्सप्रेस राजमार्ग के आस-पास के क्षेत्र को शहर का नया रियल एस्टेट केंद्र माना जा रहा था. इसका कारण मुख्यत: शहर के अन्य मुख्य केंद्रों से यहां का सहज संपर्क समझा जा रहा था. जेएलएल इंडिया के राष्ट्रीय निदेशक (शोध) आशुतोष लिमये ने कहा, ‘‘पश्चिमी एक्सप्रेस राजमार्ग के आस-पास हो रहे विकास तथा अन्य मेट्रो परियोजनाओं पर नजर रखते हुए कई डेवलपरों ने हालिया वर्षों में राजमार्ग के इतर परियोजनाएं शुरू कीं. ’’

इस दौरान ओंकार ने मलाड में अल्टा मोंटे, ओबेरॉय रियल्टी ने पूर्वी बोरीवली में स्काई सिटी, ओबेरॉय एस्क्वायर ने पूर्वी गोरेगांव में जॉय, सायला रियल्टर ने पूर्वी अंधेरी में कैलिस्टा और एएंडओ रियल्टी ने पूर्वी जोगेश्वरी में पलाजियो की शुरुआत की.

इनके अलावा कनकिया समूह, जेपी इंफ्रा मुंबई, सेठ क्रियेटर्स और ट्रांसकॉन डेवलपर्स आदि ने भी परियोजनाएं शुरू की.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here