पूजा-पाठ की करें तैयारी, कम नहीं पड़ेेंगे पुजारी , झारखंड में शुरू होगी पंडितजी की ट्रेनिंग….

0
8

शहर हों या गांव, पुजारियों की किल्लत से सभी परेशान हैं। मंदिरों में आरती की दिक्कत है तो विशेष तिथियों और पूजा

के दिनों में पंडितों की मारामारी। ब्राह्मण पूजा पाठ में रुचि न लेकर नौकरी करने लगे हैं।

समस्या से निदान की पहल : विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने इस समस्या के समाधान की ओर कदम उठाया है।

विहिप पुजारियों और कर्मकांडियों की बड़ी कतार खड़ी करने में जुटी है। इसमें ब्राह्मण समेत सभी वर्गों के लोग शामिल हैं।

समाज में किसी को कोई आपत्ति न हो इसकी मुकम्मल तैयारी की गई है। शंकराचार्यों एवं साधु संतों से इसकी अनुमति ली

गई है। ब्राह्मण समाज के लोगों से भी चर्चा हुई थी। झारखंड से शुरू हुई पहल आने वाले दिनों में देश के अन्य हिस्सों

में भी असर दिखाएगी। उम्मीद की जानी चाहिए कि अब मंदिरों के घंटे समय से गूंजेंगे,

आपको पूजा-पाठ और कर्मकांड के लिए प्रशिक्षित पंडितों की किल्लत से भी नहीं जूझना होगा।

पिछले दिनों रांची में पूरे झारखंड से हर वर्ग से आए 50 से अधिक लोगों को पुजारी का प्रशिक्षण दिया गया। कोशिश है

कि मंदिरों में पूजा पाठ न रुके और जो लोग पूजा कराते हैं वे भी बेहतर तरीके से पूजा कराएं।