पेड़ पौधों से बात कर सकते हैं, Google Tulip लॉन्च, OnePlus कार, ये है सच

0
1

टेक्नॉलजी ने आज अपना रूख बदला है और पेड़ पौधों तक से बात करने वाली टेक्नॉलजी आज ही आ गई.

लोग हैरान परेशान हैं,

गूगल और नोकिया सहित वन प्लस जैसी कंपनियां अनोखी टेक्नॉलजी का ऐलान कर रहे हैं,

लेकिन आज ही क्यों. आपको अंदाजा हो गया होगा.

One Plus Warp Car

वन प्लस कार लॉन्च करने की तैयारी में.

एक ट्वीट में कहा McLaren जैसी दिखने वाली कार का कॉन्सेप्ट है और लिखा है, ‘Coming Soon’.

ऐसा कुछ भी नहीं है, ये महज अप्रैल फूल है.

वन प्लस के अलावा कई टेक कंपनियां हमेशा से 1 अप्रैल को इस तरह के ऐलान करते हैं.

ऐमेजॉन ने एक बार कहा था कि वो ड्रोन से कार डिलिवर करेगी.

नोकिया की तरफ से भी एक ट्वीट आया है. एचएमडी ग्लोबल के चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर जूहो सरविकास ने कहा है कि Nokia 9 Pure View में एक मिस्टिरियस (रहस्य वाला) सेंसर है. ये दुनिया का पहला x-ray सेंसर है जो किसी स्मार्टफोन में दिया गया है. जल्द ही अपडेट जारी किया जाएगा फिर Nokia X Ray ऐप डाउनलोड करके यूज किया जा सकेगा.

इस ट्वीट के साथ एक फोटो भी शेयर की गई है. इस फोटो में Nokia 9 Pure View दिख रहा है और साथ में हाथ की तस्वीर है और फोन में x ray दिख रहा है.

जाहिर है ऐसा कुछ भी होने वाला नहीं है और ये अप्रैल फूल है.

Google talk to tulip (पेड़ पैधों से बातचीत)

गूगल ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें लिखा है कि Google Tulip लॉन्च किया जा रहा है.

इसे गूगल नीदरलैंड्स की टीम ने जारी किया है.

वीडियो काफी अमेजिंग है जिसमें गूगल के एक्स्पर्ट्स प्लांट्स के बारे में बात कर रहे हैं.

कहा जा रहा है कि मशीन लर्निंग के जरिए कई चीजें की गई हैं.

हैरान करने वाली बात ये है कि इस वीडियो में दिखाया गया है कि गूगल असिस्टेंट Tulip से बातचीत कर सकता है और लैंग्वेज समझ सकता है. इस वीडियो में ट्यूलिप के प्लांट्स दिखते हैं और यहां गूगल स्मार्ट डिस्प्ले रखे गए हैं. दिखाया गया है कि ट्यूलिप्स गूगल असिस्टेंट से बात कर रहे हैं और पानी की जरूरत होने पर पानी मांग रहे हैं.

कुल मिला कर ये है कि गूगल ने कहा है कि कंपनी अप पेड़ पौधों से बात कर सकते हैं.

कैक्टस से भी बातचीत दिखाई गई है.

ऐसा कुछ भी नहीं होने वाला है ये अप्रैल फूल है.

Google self driving bicycle

गूगल ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें बताया गया है कि कंपनी खुद से चलने वाली साइकल लॉन्च कर रही है.

दिखाया गया है कि ये खुद से चल कर कस्टमर तक जाती है और चलाने वाले को सिर्फ इस पर बैठना है. इसे ऐप से कंट्रोल किया जा सकेगा.

ये भी अप्रैल फूल है. ये सच है कि कंपनी सेल्फ ड्राइविंग कार की टेस्टिंग की जा रही है,

लेकिन Self driving bike जैसा कुछ भी नहीं है.

गूगल का एक और भी वीडियो है जिसमें कहा गया है कि कंपनी एक स्पून ला रही है जिसे कीबोर्ड की तरह यूज किया जाएगा.

ये भी अप्रैल फूल है.

आप भी ध्यान रखें, इस तरह के अनाउंसमेंट को सच न समझें.

क्योंकि इस तरह के वीडियो में अप्रैल फूल जैसा कुछ भी नहीं लिखा होता है,

इसलिए कई बार लोग इस पर यकीन कर लेते हैं.