फिक्सिंग पर धोनी बोले, ये किसी को मारने से भी ज्यादा बुरा काम

0
2

महेंद्र सिंह धोनी हॉट स्टार के एक स्पेशल प्रोग्राम रॉर ऑफ द लॉयन के जरिए अपनी टीम चेन्नई सुपर किंग्स पर लग चुके मैच फिक्सिंग के आरोपों पर बात करेंगे.

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी की दीवानगी हर तरफ है.

एक विकेटकीपर और बल्लेबाज के तौर पर वे करीब 15 सालों से भारतीय क्रिकेट टीम में हैं.

एक कप्तान के तौर पर उन्होंने टीम इंडिया को कई बड़े टुर्नामेंट्स जिताए हैं.

इसके अलावा वे आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के भी कप्तान हैं.

उनकी कप्तानी में टीम ने उत्तम खेल का प्रदर्शन किया है और 3 बार चैंम्पियन बनी है.

मगर ये वही टीम है जिसका नाम मैच फिक्सिंग से भी जोड़ा जा चुका है और इसने 2 साल का प्रतिबंध झेला है.

हॉट स्टार पर इसी मुद्दे से जुड़ा एक स्पेशल प्रोग्राम लॉन्च होने जा रहा है जिसमें धोनी,

मैच फिक्सिंक के मुद्दे पर बात करते नजर आएंगे.

प्रोग्राम का नाम रॉर ऑफ द लॉयन रखा गया है.

हॉट स्टार के ऑफिशियल ट्विटर हैंडेल पर इस स्पेशल प्रोग्राम का एक ट्रेलर जारी किया गया है जो 45 सेकेंड का है.

ट्रेलर में सीएसके के कप्तान एमएस धोनी नजर आ रहे हैं जो फिक्सिंग के वक्त के हाल बयां कर रहे हैं.

धोनी कहते हैं कि अगर वो कभी सबसे बड़ा कोई गुनाह करेंगे तो वो किसी का कत्ल करना नहीं

होगा बल्कि वो मैच फिक्सिंग में शामिल होना होगा.

धोनी कह रहे हैं कि जब उनकी टीम और उनपर फिक्सिंग के आरोप लगे, वो वक्त काफी मुश्किल से कटा.

धोनी की मायूसी और अंदर की आग दोनों ही संवादों से साफ झलकती नजर आ रही है.

इसके अलावा वीडियो में टीम के क्रिकेटर्स भी नजर आ रहे हैं.

इसमें शेन वॉट्सन, रविंद्र जड़ेजा और सुरेश रैना शामिल हैं.

आगे धोनी कहते हैं कि इसका अंजाम काफी बुरा हुआ. हम इस बुरे वक्त से गुजरे और इसके बाद वापसी की.

ट्रेलर के अंत में कहा गया है ” ये कहानी है जिद की “. प्रोग्राम के एग्सिक्यूटिव प्रोड्यूसर कबीर खान हैं.

इसे 20 मार्च से शुरू किया जाएगा.

ट्रेलर से जाहिर हो रहा है कि ये प्रोग्राम, मैच फिक्सिंग कांड की सच्चाई सामने लाने की कोशिश है.

इस बार के आईपीएल की बात करें तो ये इस टी-20 लीग का 12वां सत्र है.

इसका उद्घाटन 23 मार्च 2019 को होगा.