बदमाशों का पीछा करते जांबाज पुलिस अफसर को कार ने मारी टक्कर, मौत

0
0

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने रविवार को अपना एक जांबाज सिपाही खो दिया.

बीते सोमवार शाम करीब साढ़े 5 बजे दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की टीम को जानकारी

मिली थी कि कुछ हथियार तस्कर गाजियाबाद से दिल्ली लाने वाले हैं. इस जानकारी के आधार

पर सेल की टीम ने एक i-10 कार का पीछा करना शुरू किया, जिसमें हथियार तस्कर मौजूद थे.

हेड कांस्टेबल राजपाल कसाना भी अपने साथी मोहित के साथ बाइक से उस कार का पीछा कर रहे थे.

बदमाशों की कार यूपी गेट से होते हुए निजामुद्दीन और उसके बाद बारापुला तक आ गई.

राजपाल और मोहित बाइक से पीछा कर रहे थे तभी अचानक पीछे आ रही

एक कार ने बाइक को टक्कर मार दी. राजपाल और मोहित दोनों गिर गए.

बदमाश भी फरार हो गए और वह कार भी जिसने टक्कर मारी थी.

दोनों कांस्टेबल को अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां शनिवार को हेड कांस्टेबल

राजपाल कसाना की इलाज के दौरान मौत हो गई.

शहीद हेड कांस्टेबल को अंतिम विदाई देने खुद दिल्ली पुलिस कमिश्नर पहुंचे.

स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुमार कुशवाहा ने बताया कि हेड कांस्टेबल राजपाल कसाना

बड़े ही बहादुर पुलिस कर्मी थे.

राजपाल कसाना 12 साल से दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल में तैनात थे.

हाल ही में उन्हें आउट ऑफ टर्न प्रमोशन भी मिला था. इतना ही नहीं,

अभी उनका नाम एक और आउट ऑफ टर्न प्रमोशन के लिए गया हुआ था.

राजपाल कासना के दो बेटे हैं. पुलिस की मानें तो शहीद राजपाल कासना दिल्ली पुलिस

के कई बड़े ऑपरेशन में शामिल रहे हैं. इस जांबाज की मौत के चलते

पूरे महकमे को बड़ा सदमा लगा है.