बुमराह ने नहीं मानी थी Dhoni की बात

0
2
CSK जीत सकती है IPL 2020, MS Dhoni की टीम के अनुभवी खिलाड़ी ने बताया कारण

जसप्रीत बुमराह टीम इंडिया के मौजूदा दौर के सबसे बेहतरीन तेज गेंदबाज हैं। बुमराह अपनी सटीक लाइन-लेंथ व शानदार यॉर्कर के लिए जाने जाते हैं। गेंदबाजी में बुमराह का सबसे बड़ा हथियार उनका यॉर्कर ही है। अब उन्होंने एक ऐसा किस्सा शेयर किया है जिसमें उन्होंने बताया कि कैसे MS Dhoni के मना करने के बाद भी उन्होंने अपने डेब्यू मैच में वही किया जो उनके मन में आया और इससे धौनी की सोच में बदलाव आया।

बुमराह ने एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए कहा कि मैंने एम एस धौनी की कप्तानी में डेब्यू किया था।
उन्होंने मेरे अंदर काफी आत्मविश्वास जगाया। उन्होंने कहा कि माही के फैसले का
सम्मान सभी खिलाड़ी करते हैं।
बुमराह ने जब एम एस की कप्तानी मे डेब्यू किया था और पहला मैच खेल रहे थे,
तो उससे पहले कप्तान ने बुमराह की गेंदबाजी ज्यादा नहीं देखी थी। बुमराह को
जब गेंदबाजी सौंपी गई तब वो धौनी के
पास गए और उनसे पूछा कि क्या वो यॉर्कर गेंद फेंक सकते हैं तो
धौनी ने इसके लिए साफ मना कर दिया।

अब धौनी के मना करने के बाद भी उन्होंने यॉर्कर गेंदें फेंकी और इसके लिए बुमराह की माही ने
तारीफ भी की। एम एस ने ये भी कहा कि आपको टीम इंडिया में पहले ही आ जाना चाहिए था।
बुमराह ने कहा कि ज्यादातर लोगों को ये बात पता नहीं है कि एम एस ने मुझे ज्यादा गेंदबाजी
करते हुए नहीं देखा था। जब डेब्यू मैच में मैं डेथ ओवर में गेंदबाजी करने के लिए जा रहा था तब
मैंने उनसे पूछा था कि क्या यॉर्कर फेकूं, तो उन्होंने मुझसे कहा था कि नहीं यॉर्कर नहीं डालनी है।
शायद उन्हें लगा था कि ये गेंद फेंकना मुश्किल होता है और मैं मैंच में वापसी नहीं दिला पाउंगा।
फिर मैंने उनसे कहा था कि मुझे डेथ ओवर में और कुछ करना नहीं आता।

बुमराह ने आगे बताया कि इसके बाद मैं गया और अपने हिसाब से गेंदबाजी की और इसके बाद माही मेरे पास आए और कहा कि मुझे इस बात का पता बिल्कुल भी नहीं था। तुम्हें टीम में पहले ही आना चाहिए था और अगर ऐसा होता तो हम सीरीज जीत गए होते। अब मैं अपना डेब्यू मैच खेल रहा था और टीम के कप्तान कह रहे थे कि तुम अगर होते तो हमें सीरीज जिता चुके होते, ऐसी बातों से आपका आत्मविश्वास और बढ़ता है। आपको बता दें कि बुमराह यूएई में अब आइपीएल के 13वें सीजन में नजर आएंगे जहां उनका पहला मुकाबला 19 सितंबर को अपने पूर्व कप्तान एम एस धौनी की टीम चेन्नई के खिलाफ होगा।