भूतो का घर Bhangarh Fort जहां सूरज ढलते ही जाग जाती हैं आत्‍माएं

0
14

रत्नावती, तांत्रिक और भानगढ़ किले की कहानी-

वैसे तो हमारे देश में काफी हॉन्टेड प्लेस है लेकिन इस लिस्ट में भानगढ़ का किला सबसे ऊपर आता है वो है। जो कि जाना ही “भूतो का भानगढ़” के नाम से जाता है। Story of Bhangarh Fort

भानगढ़ (Bhangarh) कि कहानी जितनी रोचक है उतनी ही सच्ची है। भानगढ़ 16 वि शताब्दी में बसता है। 300 सालो तक भानगढ़ खूब फलता फूलता है। लेकिन फिर यहाँ कि एक सुन्दर राजकुमारी पर काले जादू में महारथ तांत्रिक सिंधु सेवड़ा मोहित हो जाता है। वो राजकुमारी को पाने ले लिए उस पर काला जादू करता है पर खुद ही उसका काले जादू का शिकार हो कर मर जाता है पर मरने से पहले वो भानगढ़ को बर्बादी का श्राप दे जाता है और संयोग से उसके एक महीने बाद ही पड़ौसी राज्य अजबगढ़ से लड़ाई में राजकुमारी सहित सारे भानगढ़ वासी मारे जाते है और भानगढ़ वीरान और खंण्डहर में तब्दील हो जाता है। तब से वीरान हुआ भानगढ आज तक वीरान है, लोगो का मनना है कि मारे गए की आवाजें सुनाई देती है लोगो के भूत आज भी रात को भानगढ़ के किले में भटकते है। क्योकि तांत्रिक के श्राप के कारण उन सब कि मुक्ति नहीं मिली थी। Story of the Haunted Fort

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here