मध्‍यप्रदेश में गजब का स्कूल, सिर्फ छठी क्लास, पढ़ने और पढ़ाने वाले भी चार ..

0
1
government school
DJEshaskiya maharaj bada school main 4 bacchiyo main se sirf do bacchiya aai usme se bhi 1 bacchi chali gai 1 bacchi ko padati teacher aparna deskar

शिक्षा विभाग का सिस्टम गजब तरीके से काम कर रहा है। कई स्कूलों में जहां एक भी शिक्षक नहीं हैं, वहीं

शहर का एक ऐसा भी स्कूल है जहां सिर्फ चार बच्चे पढ़ते हैं और उन्हें पढ़ाने के लिए भी चार शिक्षक

पदस्थ हैं।

शिक्षा विभाग का यह अंक गणित शहर के मुरार शहर ब्लॉक के शासकीय माध्यमिक महाराजा बाड़ा

क्रमांक-2 स्कूल में फेल नजर आता है। यहां सिर्फ एक ही कक्षा 6वीं की लगती है। कक्षा 7वीं और

आठवीं में एक भी छात्र नहीं हैं। इसी परिसर में संचालित प्रायमरी में भी ऐसी ही स्थिति है।

यहां केवल 14 ही बच्चे दर्ज हैं। कक्षा-1 में 2, कक्षा-2 में 2, 3 में 3, 4 में 3 व कक्षा 5 में कुल 4

बच्चे दर्ज हैं। इन्हें पढ़ाने के लिए भी 2 शिक्षक अलग से पदस्थ हैं। यह एक बानगी है, जिले में ऐसे

दर्जनभर से ज्यादा स्कूल हैं। जहां 40-50 बच्चों को पढ़ाने के लिए 11 से 15 शिक्षक भी डटे हुए हैं।

शहर में ही स्थित शासकीय कन्या माध्यमिक शरणार्थी विद्यालय विकासखंड मुरार है, जहां 60 से अधिक

बच्चियां हैं, लेकिन उन्हें पढ़ाने के लिए सिर्फ एक शिक्षक है।

वहीं जिले में खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसे दर्जनों स्कूल ऐसे हैं। जहां के बच्चों को पढ़ाने के लिए एक भी
शिक्षक उपलब्ध नहीं हैं। आसपास के गांवों से आने वाले शिक्षकों के सहारे ग्रामीण बच्चों की पढ़ाई चल
रही है। शासकीय माध्यमिक विद्यालय देवरीकला, भितरवार में 80, शासकीय माध्यमिक विद्यालय भोरी,
भितरवार में करीब 70 तो प्राथमिक विद्यायल मुसाहरी विकासखंड भितरवार जिला ग्वालियर में 65 से
अधिक विद्यार्थी पढ़ते हैं। लेकिन इन स्कूलों में एक भी शिक्षक बच्चों को पढ़ाने के लिए उपलब्ध नहीं हैं।
rnment schoolआसपास के स्कूल व गांवों से आए 1-2 शिक्षक इन्हें पड़ाते हैं।