महालक्ष्‍मी एक्‍सप्रेस में फंसे 700 यात्री, 9 घंटे बाद पहुंची मदद, 117 को बचाया गया …

0
5
ndrf

भारी बारिश के कारण मुंबई एक बार फिर पानी-पानी हो गई है। लगातार हो रही बारिश से कई इलाकों में
पानी भर गया है। मौसम विभाग ने शनिवार को भारी भारिश की चेतावनी जारी की है। बारिश की वजह से
7 उड़ानें रद कर दी गई है, जबकि 7-8 फ्लाइट्स का रूट डायवर्ट किया गया है। वहीं ट्रैक पर पानी भरने
के कारण महालक्ष्मी एक्सप्रेस में 2 हजार यत्री फंस गए हैं। हालांकि, सेंट्रल रेलवे के सीपीआरओ ने जानकारी
दी है कि ट्रेन में कुल 700 यात्री हैं। ट्रेन में फंसे यात्रियों को सुरक्षित निकालने का काम शुरू हो गया है।
अबतक महिलाओं और बच्चों समेत 117 लोगों को वहां से निकाल लिया गया है।

लगभग 9 घंटे से महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे यात्रियों के बचाने का काम शुरू हो गया है। रेस्क्यू के लिए नौ
सेना के 8 टीमों को लगाया गया है, जिसमें 3 गोताखोरों की टीम भी शामिल हैं। टीमों को बचाव सामग्री,
नौकाओं और जीवन रक्षक जैकेट के साथ रवाना कर दिया गया है। इससे पहले हालात का जायजा लेने के
लिए एक हेलिकॉप्टर के साथ नेवी के गोताखोरों की टीम को मौके पर भेजा गया था। बता दें कि ट्रेन मुंबई
से लगभग 55 किलोमिटर की दूरी पर बदलापुर और वानगनी के बीच फंसी हुई है।

भारी बारिश और ट्रैक पर पानी भरने के कारण बदलापुर और वानगनी के बीच महालक्ष्मी एक्सप्रेस फंसी
हुई है। ट्रेन में लगभग 700 यात्री मौजूद हैं। बचाव कार्य जारी है। आरपीएफ और सिटी पुलिस की टीमे
घटनास्थल पर पहुंची गई हैं और फंसे हुए यात्रियों को बिस्किट और पानी वितरित किया जा रहा हैं।