मार्टिन गप्टिल ने 237 रन की विशाल पारी खेलकर रचा था इतिहास, पारी में ठोके थे 35 चौके-छक्के

0
1

साल 2015 में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में आइसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप खेला गया था। इसी वर्ल्ड कप के चौथे क्वार्टरफाइनल में आज ही के दिन न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल ने तूफानी दोहरा शतक ठोका था, जो आज तक वनडे वर्ल्ड कप का सबसे बड़ा स्कोर है। मार्टिन गप्टिल ने आज ही के दिन वो इतिहास रचा था, लेकिन इससे पहले भी एक दोहरा शतक इसी वर्ल्ड कप में क्रिस गेल ने ठोका था।

दरअसल, 21 मार्च 2015 को वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड कप का आखिरी क्वार्टरफाइनल खेला गया था। इस मैच में कीवी कप्तान ब्रैंडन मैकुलम ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। वेलिंगटन के स्काई स्टेडियम में दाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल के बल्ले ने कैरेबियाई गेंदबाजों के खिलाफ आग उगली थी। मार्टिन गप्टिल ने पहले फिफ्टी, फिर शतक, फिर डेढ़ सौ रन और फिर दोहरा शतक जड़ दिया।

वनडे वर्ल्ड कप में दोहरा शतक जड़ने वाले मार्टिन गप्टिल दूसरे बल्लेबाज बने थे,
लेकिन न्यूजीलैंड के वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक जड़ने वाले वे पहले खिलाड़ी थी।
इस मैच में मार्टिन गप्टिल ने 163 गेंदों में
24 चौके और 11 छक्कों की मदद से 237 रन की पारी खेली थी। उस मैच में उनका
स्ट्राइकरेट 145.40 का था।
इस मैच में 4 रन के निजी स्कोर पर मार्टिन गप्टिल का कैच छूट गया था,
जिसका फायदा उन्होंने अहम मैच में उठाया,
लेकिन फाइनल टीम को हार मिली थी।

237 रन किसी भी स्तर के आइसीसी टूर्नामेंट में आज तक का सबसे बड़ा स्कोर है। उनके बाद
क्रिस गेल का नंबर आता है जिन्होंने उसी वर्ल्ड कप में जिम्बाब्वे की टीम के खिलाफ 215 रन की
तूफानी पारी खेली थी।
वहीं, न्यूजीलैंड के खिलाफ क्वार्टरफाइनल में 394 रन के लक्ष्य का पीछा कर रहे वेस्टइंडीज के
लिए क्रिस गेल ने 33 गेंदों में 2 चौके और 8 छक्कों की मदद से 61 रन की पारी खेली थी,
लेकिन बाकी बल्लेबाज उनका सहयोग नहीं दे पाए थे और टीम 143 रन से हार गई थी।