मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संभाली कमान, किया राज्य संक्रामक रोक नियंत्रण कक्ष का निरीक्षण

    0
    1
    cm

    चीन से फैले कोरोना वायरस के कहर से निपटने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने जोरदार तैयारी
    कर रखी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद मोर्चा संभाल लिया है। बीते तीन-चार दिन से वह
    लगातार स्वास्थ्य तथा नगर विकास के साथ ही अन्य विभाग से साथ लगातार बैठक कर रहे हैं। सभी
    को सतर्क रहने के निर्देश देने के साथ ही खुद भी मोर्चे पर डटे हैं।

    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ में सोमवार को स्वास्थ्य भवन में राज्य संक्रामक रोग नियंत्रण कक्ष
    का निरीक्षण किया। उनके साथ स्वास्थ मंत्री जय प्रताप सिंह तथा सूबे के आला अधिकारी भी थे। उत्तर
    प्रदेश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या तक 13 पहुंची है। इसके साथ ही इस समय 18 नए संदिग्ध
    अस्पताल में भर्ती हैं। लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कालेज में लगभग रोज पांच दर्जन सैंपल टेस्ट के
    लिए भेजे जा रहे हैं। हर जिले में जिला अस्पताल में भी इससे संक्रमित लोगों को आइसोलेट करने के
    इंतजाम हैं।

    आगरा में कोरोना वायरस के आठ में से चार पॉजिटव केस को फिट घोषित करने के बाद नई दिल्ली के
    अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। यह लोग अब पूरी तरह स्वस्थ्य हैं। राजधानी लखनऊ में छह अस्पतालों
    को कोरोना पॉजिटिव मरीजों के इलाज के लिए संसाधनों से लैस किया गया है। इनमें केजीएमयू, सिविल
    हॉस्पिटल, लोहिया हॉस्पिटल, बलरामपुर हॉस्पिटल, लोकबंधु और एसजीपीजीआई शामिल हैं। कोरोना
    पॉजिटिव को इन अस्पतालों में एडमिट किया जा रहा है। कोरोना वायरस संक्रमण के जांच की सुविधा
    सिर्फ केजीएमयू में उपलब्ध है। प्रदेश में आगरा कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित जिला है।